--Advertisement--

आयोग की चयन प्रक्रिया पर अभ्यर्थी ने उठाए सवाल

हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग की चयन प्रक्रिया को लेकर एक अभ्यर्थी ने सवाल उठाते हुए जांच की मांग की है। आयोग ने...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 02:00 AM IST
हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग की चयन प्रक्रिया को लेकर एक अभ्यर्थी ने सवाल उठाते हुए जांच की मांग की है। आयोग ने यूजीसी के मापदंडों को पूरा न करके, नेट, सेट पास सहित एमफिल-पीएचडी एनरोलमेंट की छूट की समयावधि को लेकर मंडी की एक अभ्यर्थी मोनिका कौशिक ने अब आरोप लगाकर सवाल खड़े किए हैं। उसका आरोप है कि इंटरव्यू में कम अंक देकर कई योग्य उम्मीदवारों को बाहर का रास्ता दिखाया गया है। उसने बाकायदा आरटीआई मांगने साथ इस संदर्भ में राज्यपाल को भी शिकायत पत्र लिखा है, ताकि शीघ्र न्याय मिल सके। स्क्रीनिंग टेस्ट पास उम्मीदवारों की सूची में न शामिल उम्मीदवार को कोर्ट के दखल के बाद इंटरव्यू लेने और भाई-भतीजावाद को लेकर कुछ लोग कोर्ट में न्याय पाने के लिए तैयारी में हैं। उसका कहना है कि यूजीसी की 20 नवंबर के पर्सनल इंटरव्यू की हिदायतों के बावजूद आयोग 100 नंबर का इंटरव्यू ले रहा है। मोनिका ने राज्यपाल को लिखे पत्र में मांग की है कि जो इंटरव्यू हुआ, उसकी रिकार्डिंग मुहैया करवाने के आदेश दिए जाएं ताकि उसकी और दूसरों की परफॉरमेंस की सच्चाई पता चले। शिमला में उसने 16 अप्रैल को इंटरव्यू दिया था। हाल ही में आयोग द्वारा अंग्रेजी विषय के सहायक प्रोफेसर कॉलेज कैडर के जिन 95 उम्मीदवारों की चयन सूची जारी की, उसको लेकर उसने सवाल उठाए हैं। मोनिका का कहना है कि आयोग द्वारा जारी अधिसूचना 8/2017 के तहत लिए गए आवेदनों और लिखित परीक्षा के बाद लिए इंटरव्यू के बाद 25 अप्रैल को हुआ है। उसका आरोप है कि छंटनी परीक्षा में ज्यादा अंक लेने वालों को इंटरव्यू में कम अंक देकर कई योग्य उम्मीदवारों को बाहर का रास्ता कैसे दिखाया गया, जिसमें उसे कम अंक देकर बाहर कर दिया।


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..