Hindi News »Himachal »Hamirpur» हमीरपुर में भारी तूफान से विद्युत और इंटरनेट सेवाएं ठप, अणु में गिरे पेड़, प्रतापनगर में जला ट्रांसफार्मर

हमीरपुर में भारी तूफान से विद्युत और इंटरनेट सेवाएं ठप, अणु में गिरे पेड़, प्रतापनगर में जला ट्रांसफार्मर

सिटी रिपोर्टर | हमीरपुर/ऊना शनिवार को शाम करीब 4:00 बजे आए तूफान के कारण शहर में विद्युत और इंटरनेट की सेवाएं ठप हो...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 13, 2018, 02:00 AM IST

हमीरपुर में भारी तूफान से विद्युत और इंटरनेट सेवाएं ठप, अणु में गिरे पेड़, प्रतापनगर में जला ट्रांसफार्मर
सिटी रिपोर्टर | हमीरपुर/ऊना

शनिवार को शाम करीब 4:00 बजे आए तूफान के कारण शहर में विद्युत और इंटरनेट की सेवाएं ठप हो गईं। विद्युत सप्लाई शाम 6:15 बजे तक ठप चल रही थी, इंटरनेट की सेवाएं भी करीब डेढ़ घंटे तक नहीं चले। जिससे लोगों को काफी परेशानियां हुईं। तूफान की वजह से लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो गया, अंधेरे की स्थिति देखने को मिली। अणु विद्युत सब स्टेशन में 132 केवी की सप्लाई फेल हो गई। इसकी वजह से सारे इलाके में विद्युत सप्लाई बंद हो गई। यह सप्लाई पंजाब के चौहाल से आती है। इस सप्लाई को बहाल करने में कई घंटों का समय लग गया। शहर के प्रताप नगर इलाके में भी विद्युत ट्रांसफार्मर एकाएक लोढ बढ़ जाने की वजह से जल गया। इससे भी काफी इलाका प्रभावित हुआ। अणु इलाके में भी 11 केवी की लाइन पर चीड़ के पेड़ गिर जाने से सारी सप्लाई ठप हो गई। शहर के गांधी चौक इलाका और दूसरे आसपास के इलाके भी इसकी वजह से प्रभावित हुए। विद्युत विभाग की टीम मौके पर सप्लाई बहाल करने में जुटी हुई है। शहर में जरा सी भी बारिश या तूफान आने पर विद्युत सिस्टम एकदम से बंद हो जाता है। सिस्टम बार-बार फेल होना यहां अब आम बात हो गई है, लेकिन इसके सुधार के लिए कोई ज्यादा कदम नहीं उठाए जा रहे हैं।

ऊना में आध्यात्मिक सम्मेलन के पंडाल में लगा टेंट फटा।

ऊना के मलाहत में तूफान से कार पर गिरा पेड़।

कुनिहार में दो कारों पर िगरा पेड़

कुनिहार | सुबह तेज धूप के बाद शनिवार दोपहर बाद से ही मौसम ने एक बार िफर से करवट बदली। यहां शाम को तेज तूफान आया, जिससे लोगों को भारी नुकसान हुआ। कुनिहार क्षेत्र में तेज तूफान से कई जगह पेड़ गिरे, तो कई जगह लोगों के घरों की टीन की छत्त उड़ गई। कुनिहार सोलन मार्ग पुलिस चौकी कुनिहार के नजदीक एक बड़ा पापुलर का पेड़ गिरने से दो गाड़ियां को नुकसान हुआ है। पेड़ गिरने से कुछ समय सड़क के दोनों ओर गाड़ियों का लंबा जाम लग गया। गनीमत ये रही कि जब पेड़ टूट कर िगरा तो उस समय कोई व्यक्ति वहां से नही गुजर रहा था।

तूफान से आध्यात्मिक सम्मेलन का पंडाल गिरा

ऊना | ऊना में तूफान ने खूब कहर मचाया। जिससे कई जगह पेड़ उखड़ गए। यहां रामलीला ग्राउंड में आध्यात्मिक सम्मेलन का पंडाल पूरी तरह से ढह गया। गनीमत यह रही कि उस समय श्रद्धालु वापस जा चुके थे। जिससे बड़ी घटना होने से टल गई। जबकि बसाल और घालुवाल में आगजनी की घटनाएं होने की सूचना है। तूफान से जिले भर में बिजली कई घंटों तक गुल रही। विद्युत बोर्ड के कर्मचारी फील्ड में जुटे हुए थे। समाचार लिखे जाने तक विद्युत आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी थी। शनिवार शाम को लगभग सवा चार बजे अचानक धूल भरी आंधी चलने लगी आैर अंधेरा छा गया। तूफान की स्पीड इतनी तेज थी कि कई जगह होर्डिंग्स उखड़ गए। जिस वक्त तूफान चल रहा था, बसाल में खेतों में अचानक आग भड़क उठी। वहीं घालूवाल में प्रवासियों की झुग्गियों में आग भड़क गई। जिससे पांच छह झुग्गियां आग की भेंट चढ़ गई। स्थानीय लोगों और फायर ब्रिगेड कर्मियों ने आग पर काबू पाया। मलाहत में घर के बाहर खड़ी कार पर पेड़ टूटकर गिरा, जिससे कार का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। जब यह पेड़ गिरा तब कार में कोई नहीं था। जिससे घटना होने से टल गई। दूसरी तरफ टक्का रोड पर कोटलाखुर्द में पेड़ गिरने से सड़क पर यातायात बाधित हुआ। जिससे वाहन चालकों को बसाल के रास्ते धमांदरी तक जाना पड़ा। तूफान से जिले भर में जनजीवन प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों तक मौसम खराब होने की संभावना जताई है। जिससे लोगों की दिक्कतें और बढ़ेंगी।

किला बेदी में होगा अब आध्यात्मिक सम्मेलन, तूफान की वजह से बदला गया स्थल|अब बाबा रुद्रानंद सेवा समिति ऊना का आध्यात्मिक सम्मेलन 13 मई को यहां किला बेदी के सभागार में होगा। जिसमें डेराबाबा रुद्रानंद आश्रम के अधिष्ठाता एवं वेदांताचार्य सुग्रीवानंद महाराज प्रवचन देंगे। यह जानकारी देते हुए समिति के सचिव अजय जगोता ने बताया कि तूफान की वजह से रामलीला ग्राउंड में बने पंडाल को नुकसान पहुंचा है। उन्होंने कहा कि टेंट पूरी तरह से फट गया है। इसलिए समिति ने सम्मेलन का स्थल किला बेदी में बदल दिया है। उन्होंने कहा कि सम्मेलन सुबह 9 बजे शुरू होगा। जिसमें सुरेंद्र शास्त्री सुबह सुंदरकांड का पाठ करेंगे। इसके बाद जालंधर के गायक शशि अपने भजनों से श्रद्धालुओं को सरावोर करेंगे। उन्होंने बताया कि सुग्रीवानंद महाराज सुबह साढ़े 10 बजे किला बेदी में पहुंचेंगे और श्रद्धालुओं को ध्यान की महत्ता बतलाएंगे। उन्होंने कहा कि किला बेदी में ही श्रद्धालुओं के लिए लंगर की व्यवस्था रहेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hamirpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×