हमीरपुर

--Advertisement--

टेंडर में फंसी 40 किमी सड़कों की टारिंग

बरसात के सीजन में हमीरपुर पीडब्ल्यूडी डिविजन में करोड़ों रुपए की सड़कों को नुकसान हुआ था। इन सड़कों की मरम्मत के...

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2018, 02:00 AM IST
टेंडर में फंसी 40 किमी सड़कों की टारिंग
बरसात के सीजन में हमीरपुर पीडब्ल्यूडी डिविजन में करोड़ों रुपए की सड़कों को नुकसान हुआ था। इन सड़कों की मरम्मत के लिए एनुअल मेंटीनेंस प्लान में पैसा मंजूर हो चुका है, लेकिन करीब दो माह से रिपेयरिंग का काम शुरू नहीं हो रहा है। वजह यह है कि कई माह से टेंडर प्रोसेस में यह फंसा हुआ है। पीडब्ल्यूडी टेंडर प्रक्रिया जल्द पूरी हो जाने का दावा कर रहा है, लेकिन अभी तक भी यह फाइनल नहीं हुआ है। जिसकी वजह से करीब चालीस किलोमीटर सड़कों की मरम्मत का काम लटका हुआ है।

हमीरपुर डिविजन को एनुअल मेंटीनेंस प्लान में 3.50 करोड़ रुपए का बजट फरवरी माह में मंजूर हुआ था। इसके बाद टेंडर की प्रक्रिया पूरी की जानी थी, जो अभी तक भी यह पूरी नहीं हो पाई है, टारिंग सीजन का शुरू हो चुका है। पिछले साल बरसात के सीजन में हमीरपुर डिविजन में दस करोड़ से ज्यादा का नुकसान सड़कों को पहुंचा था और इसकी भरपाई रिपेयर से करने के लिए बजट मंजूर हुआ है। काफी लिंक रोड बरसात में टूटे थे, जिन पर रोजाना आवाजाही में लोगों को काफी परेशानियां होती हैं। डिविजन में पहले फेस में करीब चालीस किलोमीटर सड़कों की रिपेयर होनी है जो एक से लेकर चार किलोमीटर है। जिन प्रमुख सड़कों की टारिंग प्रस्तावित है, उनमें धनेटा हमीरपुर सड़क, बाड़ी फरनोल, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, डल्याहू, हीरा नगर गांधी चौक मेन बाजार से हथली खड्ड शामिल है। प्रति किलोमीटर आठ से ₹नौ लाख इन पर खर्च होने हैं।

एनुअल मेंटेनेंस प्लान में मिले हैं हमीरपुर को 3.50 करोड़, दो माह पहले मंजूर हुआ था बजट

स्थानीय बाजार की मेन सडक कर रही टारिंग का इंतजार। सभी सड़कें उखड़ चुकी है।

शहर की सड़क की हालत भी खराब

टारिंग का यह काम हीरा नगर वाया गांधी चौक से अस्पताल सड़क की तरफ करीब तीन किलोमीटर होना है। स्थानीय टाउन हॉल के बाहर भी करीब एक साल पहले सीवरेज के काम को लेकर खुदाई की गई थी। लेकिन तब से इस सड़क की रिपेयर नहीं हो पाई है, उखड़ी हुई रोडी सड़क के चारों तरफ फैल कर आने जाने में परेशानियां खड़ी करती है।


X
टेंडर में फंसी 40 किमी सड़कों की टारिंग
Click to listen..