Hindi News »Himachal »Hamirpur» आत्महत्या को उकसाने पर पति को 7 साल की सजा

आत्महत्या को उकसाने पर पति को 7 साल की सजा

डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन कोर्ट हमीरपुर ने प|ी को दहेज के लिए उत्पीड़ित करने और उसे आत्महत्या करने के लिए उकसाने का...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 29, 2018, 02:00 AM IST

डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन कोर्ट हमीरपुर ने प|ी को दहेज के लिए उत्पीड़ित करने और उसे आत्महत्या करने के लिए उकसाने का दोषी करार देते हुए आरोपी पति को 7 साल के कठोर कारावास और 10,000 के जुर्माने की सजा सुनाई है। जिला न्यायवादी सीएस भाटिया ने बताया कि 4 अप्रैल, 2016 को टिक्कर खरबाड़ियां गांव के र| चंद ने भोरंज थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी। उन्होंने अपनी बेटी सरोज बाला की शादी सुनील के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही उनका दामाद बेटी को दहेज के लिए तंग करने लग पड़ा था। पति की प्रताड़ना से तंग आकर सरोज ने फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली थी। मृतका ने मरने से पहले सुसाइड नोट लिखा था, जिसमें उसने अपने पति को ही दहेज के लिए प्रताड़ित करने की बात लिखी थी।

स्टेशनरी की दुकान में बिना परमिट के अंग्रेजी दवाइयां बेचने पर चार की कैद|डिस्ट्रिक्टएवं सेशन कोर्ट हमीरपुर ने स्टेशनरी की दुकान में बिना परमिट के लाइसेंस के अंग्रेजी दवाइयां रखने और बेचने को लेकर आरोपी दुकानदार को 4 साल के कठोर कारावास और एक लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। जिला न्यायाधीश सीएस भाटिया ने बताया कि 1 जनवरी, 2013 को ड्रग इंस्पेक्टर लवली ठाकुर ने गवाहों के सामने रमेश चंद निवासी हौड़ (नादौन) की स्टेशनरी की दुकान में छापा मारा था। दुकान के अंदर 61 किस्म की अंग्रेजी दवाइयां बेचने के लिए रखी हुई पाई गई थीं, जब इन दवाइयों के बारे में दुकानदार से पूछताछ की गई तो वह मौके पर न तो कोई लाइसेंस और न ही कोई बिल पेश कर सका। जिस पर दवाइयों को कब्जे में लेकर मामला दर्ज किया गया था। डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन जज पदम सिंह की कोर्ट ने रमेश चंद्र को दोषी करार देते हुए उसे 4 साल के कठोर कारावास एक लाख रुपए जुर्माना और ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट के तहत 1 साल की सजा व जुर्माना, जुर्माना अदा अदा करने पर एक साल के अतिरिक्त कारावास की सजा सुनाई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hamirpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×