--Advertisement--

जो अपने को बड़े नेता मानते थे हार गए, 25 फीसदी वोट भी नहीं मिले

विधायक नरेंद्र ठाकुर जी आप भी बड़े मत बनना, नहीं तो 2022 में सम्मान नहीं मिल पाएगा वोटर्स का। हिमाचल विधानसभा चुनावों...

Dainik Bhaskar

Apr 29, 2018, 02:00 AM IST
जो अपने को बड़े नेता मानते थे हार गए, 25 फीसदी वोट भी नहीं मिले
विधायक नरेंद्र ठाकुर जी आप भी बड़े मत बनना, नहीं तो 2022 में सम्मान नहीं मिल पाएगा वोटर्स का। हिमाचल विधानसभा चुनावों में जो नेता अपने आप को बड़े मानते थे, वोटर्स ने उनसे खुन्नस निकाली है। कांग्रेस-भाजपा के बड़े नेता मानने वाले हारे हैं। यह बात यहां टाउन हाल में भाजपा के उत्कृष्ट सम्मान समारोह में बतौर मुख्यतिथि शिरकत करते हुए पार्टी के संगठन महामंत्री पवन राणा ने नेताओं और पदाधिकारियों को नसीहत देते हुए कही और कहा कि नेता बड़ा न समझें।

राणा ने कहा कि यह बात वह संगठन के कार्यकताएं से कह रहे हैं। उनका कहना था कि 2019 को लोकसभा चुनाव हैं। चारों सीटों को जीतने के लिए नई रणनीति के तहत सभी पार्टी के संगठनों को ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने का टारगेट तय कर दिया गया है, लेकिन इस बार मेहनत की जरूरत है, क्योंकि यूपी का उदाहरण सामने है।

4 हजार बूथों से निचोड़ निकाल दिया: पवन का कहना था कि हिमाचल में 8 सीटें ऐसी हारे हैं जो एक ग्रेड की थीं। यदि इन्हें जीत जाते तो आंकड़ा 52 का हो जाता। विधानसभा चुनावों के बाद 4 हजार 779 बूथों का प्रदेश भर में निचोड़ निकाल दिया है। इनमें 432 बूथ ऐसे सामने आए हैं जहां 25 फीसदी वोट भी नहीं मिले हैं। मंडलों से जवाब मांगा गया है। कुछ ने गड़बड़ की थी, उनका भी डाटा पार्टी के पास है। संगठन मंत्री का कहना था कि हिमाचल में लोस चुनावों के लिए मिशन लोस 4-4 का लोगों तैयार किया गया है।

टाउन हॉल में भाजपा उत्कृष्ठ बूथ सम्मान समारोह में ग्वारडू बूथ को सम्मानित करते पवन राणा।

विधायक बनने में पवन का अहम रोल

हमीरपुर के विधायक नरेंद्र ठाकुर ने कहा कि उन्हें विधायक बनाने में संगठन मंत्री पवन राणा का अहम रोल रहा है। पहले उनका कार्यक्षेत्र सुजानपुर विस था, लेकिन पार्टी के आदेशों पर वह हमीरपुर से चुनाव लड़े। इस विस क्षेत्र में 15-20 दिन का ही समय मिल पाया। पहले उनके पास कार्यक्षेत्र सुजानपुर विस क्षेत्र था, जो संगठन मंत्री ने यहां एक्सपेरीमेंट किए हैं, उन्हें पार्टी ने नेशनल स्तर पर सराहा है। पार्टी के जिला अध्यक्ष अनिल ठाकुर ने कहा कि हमीरपुर लोस क्षेत्र से जो भी पार्टी का प्रत्याशी होगा, उसकी जीत के लिए एकजुटता से कार्य किया जाएगा।

यह किए सम्मानित

विधानसभा चुनावों में पार्टी की जीत के लिए बूथों से लीड दिलाने को संगठन मंत्री ने बूथ टीमों को सम्मानित किया। इनमें पहले स्थान पर रहे गवारडू बूथ के लिए राजेश गौत्तम की टीम, दूसरे स्थान पर दरबोड़ बूथ, तीसरे स्थान के लिए हमीरपुर के बूथ नंबर 25 चुन्नी लाल की टीम सहित धनेड़, ललीण के राजकुमार सहित कई बूथों को सम्मानित किया गया। इस मौके राजेश गाैतम , हरीश शर्मा प्यारे,लाल शर्मा, रसील सिंह मनकोटिया,दीप कुमार बजाज,बलदेव धीमान,अजय शर्मा,दीपक शर्मा सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

आगे से बुके देना करें बंद

संगठन मंत्री ने आयोजकों को मंच से नसीहत देते हुए यह भी कहा कि जहां स्टेज पर महापुरुषों की फोटो पुष्प अर्पित करने को लगाई गई हो, उनका फोटो ऊंचे स्थान पर होने चाहिए। यह सेट बड़ा होना चाहिए ताकि कुर्सी के लेबल का न हो। उन्होंने कहा कि आगे से उन्हें बुके देकर मान-सम्मान न करें व हार भी न डालें। क्योंकि प्रधानमंत्री का भी यह स्पष्ट संदेश है।

X
जो अपने को बड़े नेता मानते थे हार गए, 25 फीसदी वोट भी नहीं मिले
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..