--Advertisement--

हफ्ते में ही निकलने लग पड़ी टारिंग की हुई सड़क की रोड़ी

पक्काभरो के नजदीक एनएच पर एक हफ्ता पहले की गई टारिंग उखड़ी। मुश्किल से हुई थी सलासी-पक्का भरो एनएच सड़क पर रिपेयर...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 02:00 AM IST
हफ्ते में ही निकलने लग पड़ी टारिंग की हुई सड़क की रोड़ी
पक्काभरो के नजदीक एनएच पर एक हफ्ता पहले की गई टारिंग उखड़ी।

मुश्किल से हुई थी सलासी-पक्का भरो एनएच सड़क पर रिपेयर शुरू, क्वालिटी पर उठ रहे सवाल

इस सड़क पर दो साल बाद हुई है टारिंग, लेकिन क्वालिटी घटिया

सिटी रिपोर्टर | हमीरपुर

पक्का भरो से रंगस तक एनएच सड़क पर टारिंग का काम पिछले करीब एक सप्ताह पहले शुरू हुआ था, लेकिन सड़क के थोड़े-थोड़े हिस्सों पर रोड़ी उखड़ कर चारों तरफ फैलना शुरू हो गई है। इससे टारिंग की क्वालिटी को लेकर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। टारिंग के साथ के साथ ही जगह-जगह से उखड़ने से वाहनों की इसके ऊपर से आवाजाही में भी दिक्कतें हो रही हैं।

हालत यही रही तो लगता नहीं है कि यह ज्यादा समय तक टिक पाएगी। पहले ही सालों के लंबे इंतजार के बाद टारिंग का काम यहां शुरू हुआ है। लगता है एनएच की ओर से भी मौके पर इसकी प्रॉपर मॉनिटरिंग नहीं की जा रही है। इस अनदेखी की वजह से बाद में समस्या खड़ी हो सकती है। पक्का भरो से रंगस तक की सड़क की टारिंग का काम पिछले करीब दो सालों से पेंडिंग चल रहा था। इस काम को लेकर एनएच और संबंधित ठेकेदार के बीच मामला उलझा हुआ था, लेकिन अब इसके हल हो जाने के बाद पुराने ठेकेदार ने ही टारिंग का यह काम शुरु किया है। लोगों को पिछले काफी समय से सड़क के इस हिस्से से आने-जाने में काफी दिक्कत होती थी। टारिंग से बेहतर सफर की उम्मीद हुई थी सड़क को चौड़ा करने के काम के चलते इसकी हालत काफी खराब हो गई थी। अब सीजन शुरू होते ही इसकी रिपेयर का काम लगा था। लेकिन अगर सड़क पर रोड़ी इसी तरह उखड़ती रही, तो ज्यादा दिन तक यह नहीं टिक पाएगी।

जहां जहां पर पर रोड़ी उखड़ी है वहां पर वाहनों के स्किड होने का खतरा

जहां-जहां से भी रोड़ी उखड़ कर सड़क पर फैली हुई है, वहां वाहनों के स्किड होने का भी खतरा अब खड़ा हो गया है। खास करके दोपहिया वाहनों के लिए वजह यह भी है कि इस सड़क के किनारे अभी भी कच्चे हैं। सड़क को चौड़ा करने के लिए यहां कटिंग की गई थी, जो अभी तक प्रॉपर ठीक नहीं हो पाई है। नई टारिंग कितने दिनों तक टिक पाती है, यह तो कुछ दिनों बाद ही पता चल पाएगा। सड़क के किनारों पर पानी की निकासी के लिए प्रॉपर ड्रेनेज भी जगह-जगह बननी है, उसका काम भी बीच में काफी समय से लटका हुआ है।

X
हफ्ते में ही निकलने लग पड़ी टारिंग की हुई सड़क की रोड़ी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..