--Advertisement--

खराब रिजल्ट पर बाल स्कूल के अध्यापकों को लताड़

जमा दो के बाद मैट्रिक का रिजल्ट का भी बेहद खराब आ जाने से सोमवार को दोपहर बाद 3:00 बजे सीधे हमीरपुर के विधायक नरेंद्र...

Dainik Bhaskar

May 08, 2018, 02:00 AM IST
खराब रिजल्ट पर बाल स्कूल के अध्यापकों को लताड़
जमा दो के बाद मैट्रिक का रिजल्ट का भी बेहद खराब आ जाने से सोमवार को दोपहर बाद 3:00 बजे सीधे हमीरपुर के विधायक नरेंद्र ठाकुर बाल सीनियर सेकंडरी स्कूल पहुंचे। उन्होंने प्रिंसिपल सहित टीचरों की क्लास लेकर दो टूक लताड़ लगाकर कहा कि यदि ऐसा ही चलता रहा और कोई सुधार न हुआ तो सरकार सभी को सुधार देगी।

ऐसा लग रहा यहां टीचर राजनीति में ज्यादा उलझे लगते हैं। मीटिंग के बाद वे बकायदा पत्रकारों से रूबरू हुए और कहा कि जमा दो के बाद इस स्कूल का दसवीं का परीक्षा परिणाम भी बेहद खराब क्रमश: करीब 27 और 17 फीसदी आया है। सरकार इस स्कूल को हर सुविधा मुहैया करवा रही है। इसके बावजूद भी रिजल्ट कैसे खराब हुआ, टीचरों से भी कई सवाल पूछे और यहां तक कहा कि इस तरह कार्य नहीं चल सकता। इस मौके पर उनके साथ डिप्टी डायरेक्टर हायर सोमदत्त सांख्यान और डिप्टी डायरेक्टर निरीक्षण अजय पटियाल, भाजपा मंडलाध्यक्ष बलदेव धीमान भी मौजूद थे।

विधायक ने स्कूल की बगल में बैठे इंस्पेक्शन कैडर को भी नहीं बख्शा, उन्होंने डिप्टी डायरेक्टर इंस्पेक्शन अजय पटियाल से भी पूछा कि अापके कार्यालय के साथ लगते इस स्कूल में पढ़ाई में इतनी बड़ी खामी रही, आप ने अपने स्तर पर क्या सुधार करवाया। पटियाल ने कहा कि इंस्पेक्शन करके करीब छह माह पहले ही कमजोर पढ़ाई की रिपोर्ट दी थी। जबकि विधायक ने कहा कि ऊपर रिपोर्ट देने से क्या होगा, खामियों मिली तो यहां सुधार को क्या किया, यह सबसे जरूरी कदम था। हाल ही यहां ज्वाइनिंग को लेकर टीचरों के बीच जो लड़ाई हुई, उस पर भी तलख दिखे और कहा कि इस पर कड़ा संज्ञान लिया है। बैठक में टीचरों को दो टूक कह दिया है कि राजनीति में हस्तक्षेप कोई नहीं करेगा। यहां के लिए जो ऑर्डर हुए थे वह केवल एक टीचर थे, दूसरे कैंसिल थे।

विधायक नरेंद्र ठाकुर ने प्रिंसिपल के साथ शिक्षकों की एक घंटे तक ली क्लास, नहीं सुधरे तो सरकार सुधार देगी

विधायक नरेंद्र टीचरों सहित स्टाफ की खराब रिजल्ट को लेकर मीटिंग लेते हुए।

टीचर सीरियस नहीं

विधायक ने कहा कि मीटिंग में हर सबजेक्ट के टीचर से उनके रिजल्ट की स्थिति पूछी, लेकिन उन्होंने जो जबाव दिए उससे लगा वे अपनी ड्यूटी के प्रति ज्यादा सीरियस नहीं। अतिरिक्त बोझ सभी स्कूलों के टीचरों पर है, लेकिन अगर स्टूडेंट्स पास मार्क्स भी नहीं ले सकें तो काबलियत पर तो सवाल उठेंगे। गर्ल्ज स्कूल हमीरपुर में रिजल्ट बढ़िया रहा, उन्होंने सलाह दी कि अगर टीचर अपने बच्चे अपने स्कूल में पढ़ाएंगे तो संख्या भी बढ़ेगी और पढ़ाई की गुणवत्ता भी। प्रिंसिपल मंजू ठाकुर ने विधायक से हर क्लास रूम सहित आसपास की निगरानी को सीसीटीवी लगाने को बजट और शौचालय बनाए जाएं और एंट्री एक गेट से करवाने का प्रावधान करवाया जाए।

X
खराब रिजल्ट पर बाल स्कूल के अध्यापकों को लताड़
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..