--Advertisement--

सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर भोटा चौक में 9 अवैध दुकानों पर चली जेसीबी

सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर अवैध कब्जे के एक मामले को लेकर प्रशासन और पुलिस ने बुधवार को स्थानीय भोटा चौक के पास 9...

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 02:00 AM IST
सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर भोटा चौक में 9 अवैध दुकानों पर चली जेसीबी
सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर अवैध कब्जे के एक मामले को लेकर प्रशासन और पुलिस ने बुधवार को स्थानीय भोटा चौक के पास 9 अवैध दुकानों को तोड़ने की मुहिम शुरू की। पीडब्ल्यूडी ने जेसीबी लगा कर उन दुकानों के संबंधित हिस्सों को तोड़ने का काम शुरू किया है, जिसे लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला संबंधित जमीन मालिक के पक्ष में आया है। अवैध कब्जों को हटाने के लिए मौके पर किसी भी स्थिति से निपटने के लिए भारी तादाद में पुलिस बल तैनात किया गया था। एसपी रमन कुमार सहित पुलिस के दूसरे आला अधिकारी मौके पर मौजूद रहे। कसौली कांड के बाद किसी भी तरह की मौके पर कोई लापरवाही न हो, इसे लेकर पुलिस बल साजो-सामान के साथ तैनात किया था।

क्या है मामला : शहर के वार्ड तीन और सात के दो लोगों ने वर्ष 1981 में भोटा चौक के पास सड़क के किनारे करीब चार मरले जमीन खरीदी थी। लेकिन उस जगह पर बाद में एक पक्ष ने करीब 9 दुकानें बना कर कब्जा कर लिया। जिसे लेकर वर्ष 1988 में मामला कोर्ट तक पहुंचा, बाद में यह सुप्रीम कोर्ट तक चला गया। मामला सुमना कुमारी और कांशीराम के बीच कई दशकों तक चलता गया और वर्ष 2016 में सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला प्रताप नगर वार्ड-3 की सुमना देवी के पक्ष में सुनाया। लेकिन अवैध कब्जे वाली जमीन पर कब्जा लेने में ही करीब दो साल का समय निकल गया और अब जमीन मालिक को उसकी जमीन दिलाने के लिए अवैध निर्माण को मौके से हटाया जा रहा है। जमीन की कई बार निशानदेही भी की गई, इस जमीन में एक अन्य हिस्सेदार सुरेश भी है।

सुमना देवी के बेटे नरेंद्र और सुरेश कुमारी के बेटे अजय ने बताया कि उनकी जमीन पर दशकों से अवैध कब्जा चल रहा था। मामला कई सालों तक कोर्ट में चलता रहा और अब सुप्रीम कोर्ट ने उनके पक्ष में फैसला सुनाया है। कब्जे हटाने की इस मुहिम को लेकर मौके पर पुलिस के अलावा पीडब्ल्यूडी, राजस्व और विद्युत बोर्ड के कर्मचारियों की टीम तैनात रही। पुलिस ने बाकायदा माइक से अनाउंसमेंट भी की। तहसीलदार मित्र देव की मौजूदगी में निशान लगाने की प्रक्रिया पूरी की गई, जिसके बाद 11:00 बजे कब्जों को तोड़ने का काम शुरू हुआ। जिन लोगों की दुकानों को तोड़ा जा रहा है उनके घर की एक महिला ऊपरी मंजिल पर बैठ गई। महिला को वहां से हटने के पुलिस ने निर्देश दिए लेकिन जब वह बार-बार समझाने के बावजूद भी नीचे उतरने को तैयार नहीं हुई तो पुलिस ने महिला को किसी तरह से नीचे उतार कर फिर थाने ले गई।

भोटा चौक पर अवैध निर्माण को लेकर पीडब्ल्यूडी की जेसीबी दुकानों को तोड़ते हुई।

अवैध निर्माण को लेकर मौके पर एसपी रमन कार्रवाई का निरीक्षण करते हुए।

कसौली कांड से सतर्क, भारी पुलिस बल तैनात

कसौली कांड जैसी कोई वारदात अवैध कब्जे को हटाने के लिए मौके पर न हो, इसे लेकर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। एसपी रमन कुमार मीणा के अलावा आईपीएस अधिकारी आकृति शर्मा, डीएसपी रेनू शर्मा के अलावा दूसरे के आला अधिकारी मौके पर रहे। मेन सड़क होने की वजह से ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए भी जवान तैनात किए गए थे। शहर में पहली बार एक साथ इतनी दुकानों पर अवैध कब्जे को हटाने की मुहिम शुरू हुई है। हालांकि जिस समय इन कब्जों को हटाने की प्रक्रिया चल रही थी, उस दौरान जमीन मालिकों ने निशानदेही को लेकर भी राजस्व विभाग के अधिकारियों के सामने सवाल खड़े किए।

सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर भोटा चौक में 9 अवैध दुकानों पर चली जेसीबी
X
सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर भोटा चौक में 9 अवैध दुकानों पर चली जेसीबी
सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर भोटा चौक में 9 अवैध दुकानों पर चली जेसीबी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..