--Advertisement--

हर गौशाला में एक कनाल भूमि पर बनेगा जैविक खेत : मनकोटिया

गसोता में गौ सेवा समिति की बैठक में फैसला लिया गया कि हमीरपुर को जैविक जिला बनाने के लिए शुरुआती दौर में हर गौशाला...

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 02:00 AM IST
हर गौशाला में एक कनाल भूमि पर बनेगा जैविक खेत : मनकोटिया
गसोता में गौ सेवा समिति की बैठक में फैसला लिया गया कि हमीरपुर को जैविक जिला बनाने के लिए शुरुआती दौर में हर गौशाला में एक कनाल भूमि को जैविक खेत के रूप में तैयार किया जाएगा। उसके बाद इसका दायरा बढ़ाया जाएगा। जिलाध्यक्ष रसील सिंह मनकोटिया ने बैठक की अध्यक्षता में हुई बैठक में कई फैसले लिए गए। इनमें हर गौशाला में पंचगप्य से निर्मित होने वाले पदार्थों पर चर्चा की गई कि एक-एक वस्तु तैयार की जाए, जिसकी बिक्री और ट्रेनिंग का प्रबंध जिला समिति करेगी।

वहीं गौशालाओं में पशु पालन विभाग के कर्मचारियों द्वारा नियमित विजिट नहीं करने पर रोष जताया और कामधेनू गौशाला जाहू की जमीन पर प्रभावशाली लोगों ने कब्जा करने की शिकायत पशुपालन मंत्री से करने का फैसला लिया। इसके अलावा महासचिव सतपाल पटियाल ने बताया कि बैठक में प्रदेश सरकार द्वारा गौशालाओं के उत्थान को लिए फैसलों की सराहना की। इनमें गौ-सेवा आयोग का गठन, मंदिरों से और शराब से होने वाली आय से गौशालाओं को सहायता, एक रुपए टोकन पर गौशाला को भूमि देने और सांडों के लिए अलग वन बिहार बनाने के लिए फैसले शामिल हैं। इस मौके पर अशोक शर्मा, केशव शर्मा, सावन सिंह, ओम प्रकाश शर्मा, गांधी राम, रतन चंद, चिरंजी लाल, रघुवीर सिंह मौजूद थे।

हिमाचल गौ सेवा समिति की बैठक में भाग लेते पदाधिकारी।

सिटी रिपोर्टर | हमीरपुर

गसोता में गौ सेवा समिति की बैठक में फैसला लिया गया कि हमीरपुर को जैविक जिला बनाने के लिए शुरुआती दौर में हर गौशाला में एक कनाल भूमि को जैविक खेत के रूप में तैयार किया जाएगा। उसके बाद इसका दायरा बढ़ाया जाएगा। जिलाध्यक्ष रसील सिंह मनकोटिया ने बैठक की अध्यक्षता में हुई बैठक में कई फैसले लिए गए। इनमें हर गौशाला में पंचगप्य से निर्मित होने वाले पदार्थों पर चर्चा की गई कि एक-एक वस्तु तैयार की जाए, जिसकी बिक्री और ट्रेनिंग का प्रबंध जिला समिति करेगी।

वहीं गौशालाओं में पशु पालन विभाग के कर्मचारियों द्वारा नियमित विजिट नहीं करने पर रोष जताया और कामधेनू गौशाला जाहू की जमीन पर प्रभावशाली लोगों ने कब्जा करने की शिकायत पशुपालन मंत्री से करने का फैसला लिया। इसके अलावा महासचिव सतपाल पटियाल ने बताया कि बैठक में प्रदेश सरकार द्वारा गौशालाओं के उत्थान को लिए फैसलों की सराहना की। इनमें गौ-सेवा आयोग का गठन, मंदिरों से और शराब से होने वाली आय से गौशालाओं को सहायता, एक रुपए टोकन पर गौशाला को भूमि देने और सांडों के लिए अलग वन बिहार बनाने के लिए फैसले शामिल हैं। इस मौके पर अशोक शर्मा, केशव शर्मा, सावन सिंह, ओम प्रकाश शर्मा, गांधी राम, रतन चंद, चिरंजी लाल, रघुवीर सिंह मौजूद थे।

X
हर गौशाला में एक कनाल भूमि पर बनेगा जैविक खेत : मनकोटिया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..