Hindi News »Himachal »Hamirpur» कराह स्कूल को एक और टीचर न मिला तो अपने बच्चों को ले जाएंगे दूसरे स्कूल: पूनम

कराह स्कूल को एक और टीचर न मिला तो अपने बच्चों को ले जाएंगे दूसरे स्कूल: पूनम

दरोगण पत्ति कोट पंचायत के प्राइमरी स्कूल कराह की एसएमसी ने डिप्टी डायरेक्टर एलीमेंट्री हमीरपुर को बुधवार को मिल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 12, 2018, 02:00 AM IST

दरोगण पत्ति कोट पंचायत के प्राइमरी स्कूल कराह की एसएमसी ने डिप्टी डायरेक्टर एलीमेंट्री हमीरपुर को बुधवार को मिल कर साफ कर दिया है कि अगर में एक माह में स्कूल को एक टीचर न मिला तो वे बच्चों को स्कूल से हटा लेंगे। खफा सदस्यों ने कहा कि यहां पांच साल से एक ही टीचर नियुक्त है। जिससे मेंबर शिक्षा विभाग से खासे खफा हो गए हैं।

उन्होंने कार्यकारी डिप्टी डायरेक्टर एलीमेंट्री देशराज बढवाल को ज्ञापन सौंप कर एक माह का अल्टीमेट दे दिया कि अगर एक माह के भीतर इस स्कूल में एक और टीचर को नियुक्त नहीं किया, तो वे 20 के 20 बच्चों को वहां से हटाकर किसी अन्य स्कूल में दाखिल कर देंगे, जिसके लिए विभाग और सरकार जिम्मेदार होंगे, क्योंकि विभाग दूसरे टीचर की नियुक्ति के आए ट्रांसफर आदेशों को भी लागू नहीं कर रहा है। एसएमसी सदस्यों ने कहा कि एक तरह सरकार और विभाग गुणवत्ता वाली शिक्षा देने की बात कर रही है, मगर धरातल पर 5-6 सालों से एक ही टीचर की सहारे उनका यह सपना कैसे पूरा होगा, चपड़ासी भी यहां नहीं। कागजी बातें करने से कभी शिक्षा में गुणवत्ता नहीं आ सकेगी। एसएमसी के प्रतिनिधिमंडल में एसएमसी प्रधान पूनम कुमारी, सपना देवी, वीना, सुनीला, सपना, निशा, ममता देवी, बंदना, मदन, रमेश चंद, सुशील कुमार, पुष्पा देवी, अनु कुमारी, सोमा देवी, रेखा, बबीता व निर्मला सहित कई सदस्य मौजूद थे।

डिप्टी डायरेक्टर से टीचर की डिमांड करते कराह स्कूल के एसएमसी।

प्रस्तावों पर सुनवाई नहीं हुई |एसएमसी प्रधान पूनम ने कहा कि इस स्कूल में 2011-12 से केवल एक ही अध्यापक पढ़ा रहा है। इस मामले को एसएमसी भी 2013 से एक और टीचर नियुक्त करने की डिमांड के लिए पांच प्रस्ताव भेज चुकी है लेकिन इन पर आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई। आरटीई एक्ट में हर प्राइमरी स्कूल में कम से कम दो टीचर नियुक्त करने का प्रावधान है। लेकिन लगता विभाग और सरकार स्वयं स्कूलों में टीचर की कमी रख कर प्रारंभिक शिक्षा को कमजोर कर रहे, कहने को एसएमसी की बड़ी पावर बताई जाती है। ट्रेनिंग में टीचरों की डिमांड पर शीघ्र सुनाई होने की बातें की जाती, लेकिन धरातल पर उसके प्रस्तावों पर कोई गौर नहीं हो रहा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hamirpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×