--Advertisement--

शॉटपुट में हमीरपुर की अंजनी प्रथम, कंडाघाट की स्मृति सेकंड

बडू स्थित बहुतकनीकी संस्थान में इंटर काॅलेज खेलकूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता में पहले दिन कई मुकाबले हुए।...

Dainik Bhaskar

Apr 12, 2018, 02:00 AM IST
शॉटपुट में हमीरपुर की अंजनी प्रथम, कंडाघाट की स्मृति सेकंड
बडू स्थित बहुतकनीकी संस्थान में इंटर काॅलेज खेलकूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता में पहले दिन कई मुकाबले हुए। जिसमें शॉटपुट में हमीरपुर की अंजनी, कंडाघाट की स्मृति और रितिका ने, जबकि लड़कों में प्रगति नगर के अंकेश, कुल्लू के सुरेंद्र, अंबोटा के अक्षय ने क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान हासिल किया। इसके अलावा 1500 मीटर दौड़ में अंबोटा के विशाल राणा, हमीरपुर के मनीश चंदेल, कांगड़ा के अक्षय, डिस्कस थ्रो गर्ल्स में कांगड़ा की मालविका, हमीरपुर की अंजली, कंडाघाट की प्रियंका ने क्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर कब्जा कर लिया है। प्रतियोगिता का शुभारंभ बुधवार को डीसी राकेश कुमार प्रजापति ने किया। प्रिंसिपल ओमकार सिंह सेन ने बताया कि इसमें प्रदेश भर के 15 बहुतकनीकी कॉलेजों से 566 प्रतिभागी हिस्सा लेने पहुंचे हैं। यह तीन दिन तक यहां अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाएंगे। 13 अप्रैल को होने वाले समापन समारोह में स्थानीय विधायक नरेंद्र ठाकुर विजेताओं को सम्मानित करेंगे। हमीरपुर जिला के विकास ठाकुर ने वेटलिफ्टिंग में पदक जीतकर हिमाचल का नाम रोशन किया है।

बडू स्थित बहुतकनीकी संस्थान में इंटर काॅलेज खेलकूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता का पहला दिन

बडू बहुतकनीकी संस्थान में शुरू हुई इंटरकॉलेज खेलकूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता के प्रतिभागी मुख्यातिथि डीसी राकेश कुमार प्रजापति के साथ।

खेलों से होता सर्वांगीण विकास : डीसी

कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि डीसी ने कहा कि वर्तमान दौर में खेलें मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए सबसे जरूरी हैं। स्टूडेंट्स जीवन से ही युवाओं को खेलों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेना चाहिए, इससे जीवन का सर्वांगीण विकास होता है। हमीरपुर जिला के हर ब्लाॅक में दो-दो मैदान तैयार करने का लक्ष्य भी तय है, ताकि ग्रामीण प्रतिभाओं को आगे बढ़ने का अवसर मिल सके। उन्होंने कहा कि छात्र अपने अंदर छिपी प्रतिभा को पहचान कर उसी के मुताबिक जीवन में लक्ष्य तय कर उसे कड़ी मेहनत से हासिल करें। खेल में खेल भावना जरूरी है। यहां से मेडल न जीतकर सबका दिल जीत कर जाएं, क्योंकि खेलों में जीत-हार मायने नहीं रखती, बल्कि प्रतियोगिताओं में भाग लेना सबसे अहम होता है। सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण स्तर पर भी कारगर कदम उठा रही, ब्लाॅक से लेकर राज्य स्तर पर विभिन्न तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। जिससे खिलाडिय़ों को पुराने समय के मुकाबले अब बेहतर सुविधाएं और अवसर मिल रहे हैं।

X
शॉटपुट में हमीरपुर की अंजनी प्रथम, कंडाघाट की स्मृति सेकंड
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..