• Hindi News
  • Himachal
  • Hamirpur
  • Kullu News magistrate probe of bhootnath bridge is incomplete not disclosed to crack then orders for investigation

भूतनाथ ब्रिज की मैजिस्ट्रेट जांच अधूरी, दरार आने का खुलासा नहीं, फिर जांच के आदेश

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:21 AM IST

Hamirpur News - कुल्लू में विपाशा नदी पर बने डबल लेन भूतनाथ ब्रिज में दरार आने और झुकने का कारण तीन माह की जांच के बाद भी जांच कमेटी...

Kullu News - magistrate probe of bhootnath bridge is incomplete not disclosed to crack then orders for investigation
कुल्लू में विपाशा नदी पर बने डबल लेन भूतनाथ ब्रिज में दरार आने और झुकने का कारण तीन माह की जांच के बाद भी जांच कमेटी नहीं खोज पाई है।

हालांकि मैजिस्ट्रेट जांच कमेटी ने तीन माह का समय में ब्रिज की जांच कर इसकी स्टेटस रिपोर्ट जिला मैजिस्ट्रेट को सौंप दी थी, लेकिन इस रिपोर्ट मेें ब्रिज में दरारें आने और झुकने का कारणों का पूरी तरह से खुलासा नहीं हो पाया है। लिहाजा, जिला मैजिस्ट्रेट ने इसे अधूरा मानकर फिर से पूरी जांच करने के निर्देश जारी किए हैं। बताया जा रहा है जांच कमेटी इसका कारण नहीं ढूंढ पाई है। जिस कारण अब मैजिस्ट्रेट जांच कमेटी देश के बड़े़ विशेषज्ञ का सहारा लेगी।

जिसके लिए जिला मैजिस्ट्रेट ने जांच कमेटी को उचित दिशा निर्देश जारी किए हैं। लिहाजा, अब एक बार फिर मैजिस्ट्रेट जांच देश के किसी बड़े विशेषज्ञ की निगरानी में होगी। लिहाजा, अभी इस ब्रिज के इतनी जल्दी झुकने और दरार आने के कारणों को खोजने में अभी और इंतजार करना होगा।

3 महीने जांच के बाद भी ब्रिज में दरारें और झुकने का कारण नहीं खोज पाई कमेटी, मजिस्ट्रेट जांच कमेटी ने जांच पूरी कर जिला मैजिस्ट्रेट को सौंपी रिपोर्ट

एडीएम के नेतृत्व में हुई जांच : एडीएम कुल्लू अक्षय कुमार सूद के नेतृत्व वाली मजिस्ट्रेट जांच कमेटी ने तीन महीने से अधिक समय तक इस ब्रिज की जांच की है और इसकी जांच रिपोर्ट हाल ही में डीसी कुल्लू यूनुस को सौंपी थी। लिहाजा, जांच रिपोर्ट के अध्ययन के बाद जिला मैजिस्ट्रेट ने इस जांच को अधूरा पाया है। लिहाजा जिला मजिस्ट्रेट ने इस जांच को फिर से पूरे तथ्य के साथ प्रस्तुत करने को कहा है। जिसके लिए उन्होंने बड़े विशेषज्ञ का सहारा लेने के भी निर्देश दिए है ताकि जांच में तथ्य सामने आ सके।

जो रिपोर्ट दी वो अधूरी है, फिर से होगी इसकी जांच


दस करोड़ का पुल और पांच साल में धंसा: सबसे बड़ा सवाल यह है कि अपनी अलग ही अाधुनिक तकनिक से बने इस ब्रिज को तैयार करने में विभाग और कंट्रेक्टर ने आठ साल लगा दिए थे। पुल का शिलान्यास 11 मई, 2005 को हुआ था और उसके बाद काफी लंबे समय के बाद इस ब्रिज का 19 अक्तूबर, 2013 को उद्घाटन किया था। उसके बाद इस ब्रिज को करीब पांच साल इस्तेमाल किया गया लेकिन उसके बाद पांच साल की इस अल्पावधि में दरारें पड़ गई और बीच का हिस्सा झुक गया जो निश्चित तौर पर निर्माण पर अंगुलियां उठा रहा है।

साढे़ चार महीनों से बंद है ब्रिज : ब्रिज के छोर पर दरारें आने और बीच से झुक जाने के कारण यह वाहनों की आवाजाही के लिए सुरक्षित नहीं है। जिस कारण डीसी कुल्लू ने इस ब्रिज को 5 जनवरी से यातायात के लिए पूरी तरह से बंद कर रखा है। आने वाले समय में भी जब कि इस ब्रिज को ठीक नहीं किया जा सकता तब तक के लिए इसका इस्तेमाल करना घातक हो सकता है। जब से इस पुल पर दरारें आई तब से वाहनों की आवाजाही भी बंद है।

X
Kullu News - magistrate probe of bhootnath bridge is incomplete not disclosed to crack then orders for investigation
COMMENT