कुल्लू

--Advertisement--

लाहुलियों ने मशालें जलाकर मनाली से भगाए भूत

कुल्लू| लाहुल का हालड़ा उत्सव पर्यटन नगरी मनाली में भी धूमधाम से मनाया गया। मनाली में स्वांगला जन कल्याण संगठन की...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:00 AM IST
कुल्लू| लाहुल का हालड़ा उत्सव पर्यटन नगरी मनाली में भी धूमधाम से मनाया गया। मनाली में स्वांगला जन कल्याण संगठन की ओर से आयोजित लाहुली समुदाय के लोगों ने मिलकर इस पारंपरिक उत्सव को मनाया। लाहुलियों ने हिमालयन बुद्धिष्ट सोसायटी के जंज घर में एकत्रित होकर हालड़ा पर्व को मनाया। इस खास मौके पर लोगों ने लकड़ी से तैयार मशालों को जलाकर भूतों को भगाया। मान्यता है कि बुरी प्रेतात्माओं को भगाने के लिए घाटी में लोग मशालों को जलाकर हालड़ा उत्सव मनाते हैं। पर्यटन नगरी मनाली में भी एकत्रित होकर इस पर्व को मनाया गया। मुख्य अतिथि पहुंचे एसडीएम मनाली रमन घरसंगी ने सभी लाहुलियों को पर्व की शुभकामनाएं दी।

इससे पहले लामा ने विधिवत पूजा अर्चना कर मशाल जलाई व हालड़ा की शुरुआत की। अमर नाथ शाकिया, हरी सिंह ठाकुर, सुशील ठाकुर, विजय ठाकुर, शमशेर ठाकुर, अजित शर्मा, जग्गनाथ तारकू, जीतू, रमेश ठाकुर, शेर सिंह यांबा, राजू, सुशील, डोला राम ठाकुर आदि मौजूद थे।

देव वाद्य यंत्रों से गूंज उठा मनाली गांव, घर-घर जाकर आशीर्वाद दे रहे मनु ऋषि

मनाली| सृष्टि के रचियता मनु ऋषि का गांव देव वाद्य यंत्रों से गूंज उठा। आराध्यदेवों के प्रांगण में ऋषि मनु और माता हिडिंबा की उपस्थिति से माहौल भक्तिमय हो उठा। देव परंपरा अनुसार विधि विधान में काकूनों व देवलुओं ने परंपरा का निर्वाहन किया। इस दौरान गांव देव वाद्य यंत्रों से गूंज उठा। इस दौरान बच्चों के बीच दौड़ भी करवाई गई। गांव के नौनिहाल सृजल ने इस दौड़ को जीतकर देवता का आशीर्वाद प्राप्त किया। देवता के इस धार्मिक अनुष्ठान में सैकड़ों ग्रामीणों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। सर्दियों में मनाए जाने वाले अनूठे व पारंपरिक उत्सव फागली की धूम मनु की नगरी मनाली गांव से शुरू हो गई है। गांव की परिक्रमा कर अराध्यदेव ग्रामीणों को सुख समृद्धि का आशीर्वाद दे रहे हैं। मनु महाराज के मंदिर ओल्ड मनाली के प्रांगण से विधिवत पूजा-अर्चना से शुरू हुआ उत्सव कुल्लू घाटी के हर गांव में मनाया जाएगा। आराध्यदेव मनु महाराज इस उत्सव के दौरान गांव के लगभग साढ़े तीन सौ घरों की परिक्रमा पर निकल पड़े हैं।

X
Click to listen..