--Advertisement--

ग्रामीण मुसीबत में और पुलिस कर्मी करता रहा बदसलूकी

घियागी गांव के लोगों पर अग्निकांड की घटना का कहर टूटा और ग्रामीण एक दूसरे की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहे...

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 02:00 AM IST
घियागी गांव के लोगों पर अग्निकांड की घटना का कहर टूटा और ग्रामीण एक दूसरे की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहे थे कि पुलिस भी मदद के लिए घटनास्थल पर पहुंची और ग्रामीणों ने पुलिस से मदद करने के लिए पुलिस कर्मचारी से और जवान बुलाने की गुजारिश की तो पुलिस कर्मचारी ग्रामीणों पर भड़क उठा और बदसलूकी की।

ग्रामीणों का कहना है कि बदसलूकी करने वाला बंजार पुलिस का एएसआई था। ग्राम पंचायत खाडागाड़ के प्रधान जै सिंह, उपप्रधान ओम प्रकाश व ग्रामीणों प्रेम सिंह बहादुर सिंह, हरी सिंह, भाग सिंह, वेली राम, भीम सेन, इंद्र सिंह आदि ने कहा कि अाग की घटना के दौरान पुलिस कर्मियों को जहां ग्रामीणों की आग बुझाने में मदद करनी चाहिए थी पर पुलिस कर्मचारी ग्रामीणों के साथ बदसलूकी करता रहा। उन्होंने बताया कि अगर ग्रामीण एकत्रित होकर आग पर काबू नहीं पाते तो इस गांव में 60 से अधिक घर जलकर राख होते। ग्रामीणों की कड़ी मशक्कत के कारण ही आगजनी को काबू पाया गया। जबकि पुलिस सिर्फ लोगों की स्टेटमेंट लेने तक ही सीमित रही। जबकि पुलिस को भी ग्रामीणों के साथ आग पर काबू पाने का काम करना चाहिए था। जबकि बंजार थाना प्रभारी सीआर चौधरी का कहना है कि आगजनी की घटना के दौरान पुलिस के जवानों ने किसी भी ग्रामीण के साथ बदसलूकी नहीं की बल्कि छोटी सी कहा सुनी हुई थी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..