• Hindi News
  • Himachal
  • Manali
  • कहीं मौसम की बेरुखी का शिकार न हो जाए शरद खेेलें
--Advertisement--

कहीं मौसम की बेरुखी का शिकार न हो जाए शरद खेेलें

मनाली| इन दिनों बर्फ से लकदक रहने वाले पहाड़ मौसम की बेरुखी से खाली होने लगे है। अभी तक पहाड़ों में पर्याप्त...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 AM IST
कहीं मौसम की बेरुखी का शिकार न हो जाए शरद खेेलें
मनाली| इन दिनों बर्फ से लकदक रहने वाले पहाड़ मौसम की बेरुखी से खाली होने लगे है। अभी तक पहाड़ों में पर्याप्त बर्फबारी नहीं हुई है। बर्फबारी न होने से मनाली के सोलंगनाला के स्कीइंग स्लोप भी सुनसान पड़े हुए है। मौसम की बेरुखी ऐसी ही रही तो प्रस्तावित राष्ट्रीय स्कीइंग कप भी रद हो सकता है। बर्फबारी न होने से शीतकालीन व्यवसाय को भी भारी नुकसान हुआ है। सोलंग में बर्फ न होने के कारण सैलानी स्कीइंग खेल का आनंद उठाने से वंचित रह गए है। हर साल जनवरी महीने में देश भर के सैकड़ों युवा अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान के सहयोग से स्कीइंग के गुर सीखता था लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो पाया है। संस्थान अभी तक अपने बेसिक और एडवांस कोर्स शुरू ही नहीं कर पाया है। इन दिनों स्कीइंग से जुडे पर्यटन व्यवसायी सैलानियों को स्कीइंग करवाकर अपना कारोबार चलाते थे लेकिन बर्फबारी ने सभी को मायूस किया है। स्थानीय स्कीयर भी सोलंग की ढलानों में अभ्यास करने से वंचित रह गए है। ओली में आयोजित अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग कप भी बर्फबारी न होने से रद्द करना पड़ा है। उपाध्यक्ष विंटर गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया रूप चंद नेगी का कहना है कि उत्तराखंड के ओली में प्रस्तावित अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग कप बर्फबारी न होने से रद्द करना पड़ा है। सोलंग की ढलाने भी बर्फ के बिना सूनी हो गई है।

X
कहीं मौसम की बेरुखी का शिकार न हो जाए शरद खेेलें
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..