• Home
  • Himachal Pradesh News
  • Nadaun News
  • प्रदेशभर का राजस्व रिकाॅर्ड हो चुका ऑनलाइन नादौन में नहीं मिल रहे लोगों को ऑनलाइन पर्चे
--Advertisement--

प्रदेशभर का राजस्व रिकाॅर्ड हो चुका ऑनलाइन नादौन में नहीं मिल रहे लोगों को ऑनलाइन पर्चे

नादौन शहर में राजस्व विभाग की ओर से जारी भूमि के पर्चे अभी तक भी ऑनलाइन नहीं मिल रहे हैं। जहां एक ओर प्रदेश भर का...

Danik Bhaskar | Apr 25, 2018, 02:00 AM IST
नादौन शहर में राजस्व विभाग की ओर से जारी भूमि के पर्चे अभी तक भी ऑनलाइन नहीं मिल रहे हैं। जहां एक ओर प्रदेश भर का राजस्व रिकाॅर्ड ऑनलाइन हो चुका है और लोक मित्र केंद्रों और साइबर कैफे आदि में किसी भी स्थान के भूमि के पर्चे मात्र एक क्लिक के इशारे पर निकाले जा रहे हैं। वहीं, नादौन शहर जो कि राजस्व रिकाॅर्ड में टीका कोट और टीका सेरी से मिल कर बना हुआ है, का राजस्व रिकाॅर्ड लोक मित्र केंद्रों तथा साइवर कैफे से प्राप्त करना अभी तक सपना ही बना हुआ है। जानकारी देते हुए स्थानीय लोगों जनक राज, कमल, देस राज, नितिन, अशोक, महेंद्र, राज कुमार, राजेश कुमार, सुरेश आदि का कहना है कि ऐसा रिकाॅर्ड नादौन तहसील में तो ऑनलाइन मिल जाता है, परंतु लोक मित्र केंद्र पर उपलब्ध नहीं है। परिणाम स्वरूप लोगों की भीड़ तहसील कार्यालय की ओर दौड़ती देखी जा सकती है। जब लोगों को पटवार घरों के चक्कर मजबूरी में काटने पड़ते है। लोगों में रोष व्याप्त है कि नादौन का बंदोबस्त वर्ष 2014 में ही समाप्त हो चुका है, जिसका रिकाॅर्ड नादौन तहसील में ऑनलाइन प्राप्त किया जा सकता है, तो फिर ऐसी क्या तकनीकी खामी रह गई है कि यह राजस्व रिकाॅर्ड उनके गांवों तथा घरों के पास बने लोक मित्र केंद्रों पर नहीं मिलता। नादौन में ही लोक मित्र केंद्र चलाने वाले युवाओं राजेश्वर परिहार तथा मुकेश से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उनके पास प्रदेश भर का राजस्व रिकाॅर्ड एक क्लिक पर उपलब्ध है, जबकि नादौन का रिकाॅर्ड उपलब्ध नहीं होता। उन्होंने इसके लिए ऑनलाईन सिस्टम में कोई तकनीकी कमी का होना बताया है।

समस्या

तहसील कार्यालय में लगी रहती है लोगों की भीड़, रोज जाना पड़ता है खाली हाथ

समस्या पर बोले अधिकारी

उच्चाधिकारियों को अवगत करवाया