--Advertisement--

बजट में बढ़ती महंगाई से कोई राहत नहीं दी गई

भास्कर न्यूज | रामपुर बुशहर केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा पेश किया गया बजट मजदूरों के विरुद्ध है। इस बजट में...

Danik Bhaskar | Feb 03, 2018, 02:05 AM IST
भास्कर न्यूज | रामपुर बुशहर

केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा पेश किया गया बजट मजदूरों के विरुद्ध है। इस बजट में केंद्र की सरकार ने मजदूरों की समय-समय पर उठाई गई मांगों को दरकिनार किया है और मजदूरों कोई वित्तीय लाभ इस बजट से नहीं हुआ है। इतना ही नही देश में बढ़ रही महंगाई पर रोक लगाने के लिये सरकार द्वारा कोई विशेष कदम नहीं उठाया। इसी को लेकर सीटू क्षेत्रीय कमेटी के बैनर तले शुक्रवार को रामपुर में एसडीएम कार्यालय के बाहर केंद्र की मोदी सरकार के मजदूर विरोधी बजट के खिलाफ धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार पर जमकर नारेबाजी की।

इस धरने को संबोधित करते हुए सीटू के जिलाध्यक्ष बिहारी सिवेगी और कुलदीप ने कहा कि इस बजट में भी सरकार ने ठेकाकरण को बढ़ावा दिया है, जिससे मजदूरों का शोषण और बढ़ने वाला है आंगनबाड़ी मिड डे मील व आशा कर्मियों के लिए कोई आर्थिक लाभ सरकार की और से नहीं दिया गया है। इसमें केवल आंकड़ों के खेल से किसानों को मरहम लगाने की कोशिश की जा रही है, जबकि उनके लिए कोई बुनियादी योजना नहीं। नौजवानो की नौकरी के लिए कोई बड़ी योजना नहीं है, सब कुछ ठेकेदारी प्रथा में, फिक्स टर्म, परमानेंट नौकरी का केवल सपना दिखाया है।

लोकल कमेटी रामपुर के सचिव देवकी नंद ने कहा है कि मोदी सरकार द्वारा पेश किया बजट कॉरपोरेट की फायदा देने के अलावा कुछ नहीं है। इस मौके पर सीटू क्षेत्रीय कमेटी सदस्य राम दास, नरेंद्र देष्टा, सुरेंदर, अंकित,जसबीर,श्यामा, राज, तिलक ठाकुर, ललित, राजेन्द्र ,मोहिन्दर,गोपी,राधा, मंजू,थली राम,रमन शर्मा, मनित,राकेश, प्रेम चौहान, अशोक दीपन, विद्या, माया, गोपाल आदि उपस्थित रहे।

रामपुर एसडीएम कार्यालय के बाहर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए सीटू कार्यकर्ता।