Hindi News »Himachal »Rampur» जाहू में 15 दिन बाद मिल रहा पानी, बिछाई जाएं नई लाइनें

जाहू में 15 दिन बाद मिल रहा पानी, बिछाई जाएं नई लाइनें

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 03, 2018, 02:05 AM IST

जाहू पंचायत में पानी की समस्या को लेकर एक प्रतिनिधिमंडल आया था। जल्द पेयजल योजना का निरीक्षण कर समस्या का समाधान किया जाएगा। विरेंद्र ठाकुर,एक्सईएन आईपीएच रामपुर बुशहर।

पेयजल योजना के उद्‌घाटन के एक साल बाद भी नहीं मिला लाभ

भास्कर न्यूज | रामपुर बुशहर

ननखड़ी तहसील के जाहू पंचायत में ग्रामीण पेयजल किल्लत की समस्या से जूझ रहे हैं। इस समस्या को लेकर पंचायत का एक प्रतिनिधिमंडल प्रधान कृष्णा मेहता की अध्यक्षता में आईपीएच विभाग रामपुर के एक्सईएन वीरेंद्र ठाकुर से भी मिला। इस दौरान ग्रामीणों ने विभाग से जल्द इस समस्या को दूर कर सुचारू पेयजल मुहैया करवाने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि पर्याप्त पेयजल आपूर्ति होने के बाद भी ग्रामीणों को सुचारू पेयजल आपूर्ति नहीं मिल पा रही, जिस कारण ग्रामीणों में आईपीएच विभाग की कार्यप्रणाली के प्रति खासा रोष हैं।

इन क्षेत्रेां में समस्या: जाहू पंचायत के जाहू, धाला, रैरा, जाहू डीम में बीते कई सालों से ग्रामीण पेयजल किल्लत से निजात दिलाने के लिए पूर्व सरकार और आईपीएच विभाग ने खड़ाहण से रेझटू उठाऊ पेयजल योजना का निर्माण किया था, लेकिन पेयजल योजना के उद्‌घाटन के एक वर्ष बीत जाने के बाद भी ग्रामीणों को पेयजल आपूर्ति नहीं मिल पाई है। उक्त गांव के लिए विभाग अभी तक पेयजल लाइन तक नहीं बिछा पाया है। उक्त गांव में करीब 700 के करीब ग्रामीण रह रहे हैं।

जूणी से घासनी गांव के लिए नई पेयजल लाइनें बिछाई जाए

प्रतिनिधिमंडल ने इस दौरान एक्सईएन आईपीएच से जूणी से घासनी गांव के लिए नई पेयजल लाइनें बिछाने की मांग की। ग्रामीणों ने कहा कि धाला भामटी बगैल घासनी के लिए बिछ रही पेयजल लाइन के बार-बार टेंडर तो लग रहे हैं, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है। वहीं, ग्रामीणों ने धाला गांव में जल्द स्टोर टैंक का निर्माण करने का मामला भी उठाया। ग्रामीणों ने उक्त गांव के लिए एक ही लाइनमैन की तैनाती करने की मांग की है। इस प्रतिनिधिमंडल में पंचायत प्रधान कृष्णा मेहता, उप प्रधान कुलदीप ठाकुर, वार्ड सदस्य मंजीत, राजेंद्र श्याम सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित रहे।

ग्रामीणों के रोजमर्रा के काम हो रहे प्रभावित

गांव के लोगों को 15-15 दिनों बाद पेयजल की आपूर्ति मिल रही है, जिस कारण ग्रामीणों के रोजमर्रा के कार्य प्रभावित हो रहे हैं। ऐसे में ग्रामीण प्राकृतिक स्रोतों या फिर टैंक में बचे पानी से गुजारा करने को मजबूर हैं। ग्रामीणों ने कई बार इस समस्या को आईपीएच विभाग के समक्ष रखा, लेकिन समस्या आज भी जस की तस बनी हुई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rampur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×