• Hindi News
  • Himachal
  • Rampur
  • पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर रामपुर में सीपीआईएम का हल्ला
--Advertisement--

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर रामपुर में सीपीआईएम का हल्ला

Rampur News - भास्कर न्यूज | रामपुर बुशहर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दामों में पहले के बजाय काफी गिरावट हुई, इसके...

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 02:00 AM IST
पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर रामपुर में सीपीआईएम का हल्ला
भास्कर न्यूज | रामपुर बुशहर

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दामों में पहले के बजाय काफी गिरावट हुई, इसके बावजूद भी पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दामों में सरकार हर महीने बढ़ाने का फैसला लिया है, जब तक कि सब्सिडी पूरी तरह से समाप्त न हो जाती। मंडलवार को पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर सीपीआईएम की लोकल कमेटी रामपुर ने एसडीएम कार्यालय रामपुर के बाहर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान सीपीआईएम के सदस्यों ने केंद्र सरकार के जमकर नारेबाजी की। सीपीएम ने केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा है कि पेट्रोल और डीजल पर लगाई गई एक्साइज ड्यूटी को हटाकर कर दामों में कटौती कर महंगाई को कम करने के लिये उचित कदम उठाए, ताकि लोगों को राहत मिल सके। प्रदर्शन को संबोधित करते हुए लोकल कमेटी रामपुर के सदस्य कुलदीप व प्रेम चौहान ने कहा कि आज देशभर में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में की गई भारी वृद्धि की पार्टी कड़ी निंदा करती है। उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से पैट्रोल पर उत्पाद टैक्स में 105 प्रतिशत और डीजल पर टैक्स में 330 प्रतिशत की वृद्धि की गई है, जिसकी वजह से पूरे दक्षिण एशिया में तेल की कीमतें हमारे देश में सबसे महंगी हो गई हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वर्तमान में कच्चे तेल की कीमत 70 डोलर प्रति बेरल है। यदि इसे रुपये में देखा जाए तो कच्चे तेल की कीमत 29 से 30 रुपये प्रति लीटर है। कच्चे तेल को रिफाइन करने बाद आज के समय में पेट्रोल और डीजल का जो दाम रुपये में टैक्स को लगाकर होना चाहिए वो 45 से 50 रुपये से प्रति लीटर से अधिक नहीं हो सकता है, जबकि पेट्रोल 75रुपये लीटर और डीजल 65 रुपये 78 पैसे लीटर के हिसाब से बिक रहा है। केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा पेट्रोल और डीजल में एक्साइज डयूटी जो पहले पेट्रोल में 9 रुपये 48 पैसे थी को बढ़ाकर 19 रुपये 48 पैसे और डीजल में 3 रुपये 50 पैसे से बढ़ाकर 15 रुपये 33 पैसे कर दिए। वहीं केंद्र सरकार ने किसानों का कर्जा माफ नहीं किया। जब की पिछले 3 वर्षों में पूंजीपतियों को 1.81 लाख करोड़ का कर्ज माफ कर लिया है, मजदूरों के श्रम कानूनों में फेरबदल करके बड़े बड़े पूंजीपतियों के पक्ष में बदला जा रहा है।

केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए सीपीआईएम रामपुर के सदस्य।

ये रहे धरने में मौजूद

इस मौके पर दयाल सिंह, हितेश हष्टा, आशु भारती, ओम प्रकाश भारती, हरि सिंह कपूर, रमन शर्मा, श्यामा, आलोक जिष्टु, विकेश, मोहन, देव राज, गटेश्वर, चांद, वीनू, मोहिंदर, डेनी कायथ, विनोद, अमर सिंह, राजकुमारी, सुनीता के अलावा कई अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

X
पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर रामपुर में सीपीआईएम का हल्ला
Astrology

Recommended

Click to listen..