Hindi News »Himachal »Shimla» 12 Children Funeral At One Time On Himachal Bus Accident

नई स्कूल ड्रेस में हुआ 4 बच्चों का अंतिम संस्कार, अर्थियां देख रोते-रोते अचेत हो गई मां

खवाड़ा गांव के एक ही परिवार के दो भाइयों के पूरे परिवार को वक्त ने एेसा जख्म दिया है जो ताउम्र नहीं भर पाएगा।

Bhaskar News | Last Modified - Apr 11, 2018, 01:22 PM IST

    • खवाड़ा गांव में अंतिम विदाई में बहन नरेश कुमारी भाइयों की अर्थियों पर उनकी ड्रेस रखती हुई।

      खवाड़ा (हिमाचल)।कांगड़ा बस हादसे में हुई 23 बच्चों की मौत के बाद मंगलवार को अलग-अलग जगहों पर इनका अंतिम संस्कार हुआ। खवाड़ा गांव के दो सगे भाइयों के 4 बच्चों को भी इस हादसे ने छीन लिया। एक ही परिवार के दो भाइयों के पूरे परिवार को वक्त ने एेसा जख्म दिया है जो ताउम्र नहीं भर पाएगा। बच्चों के लिए खरीदी गई वर्दियां अभी उन्होंने पहननी भी शुरू नहीं की थीं। इसीलिए इन दोनों भाइयों के चारों बच्चों के अंतिम सफर पर विदा होने से पहले उनकी इकलौती बची लाडली बेटी नरेश कुमारी ने अपने भाई-बहनों को इन वर्दियों को ओढ़ा कर विदा किया। यह वर्दियां पिछले हफ्ते ही खरीदी गई थीं। एक ही अवाज आ रही थी ये वर्दियां मनहूस दिन में खरीदी गई...

      - स्कूल में दाखिला लेेने के बाद इनका एक-एक जोड़ा इन बच्चों ने पहली बार सोमवार को पहना था, लेकिन एक-एक वर्दी अभी ज्यों की त्यों भीतर रखी हुई थी जो आखिरी सफर में साथ गई।

      - इन भाइयों की बहन नरेश कुमारी फूट-फूट कर राे रही थी। वह कमरे में बार-बार जा रही थी कभी वर्दियां लाती तो कभी जूते या फिर कभी जुराबें लाकर भाइयों के पांव साथ रखती।

      - नरेश अपने पापा के साथ जब बिलख कर रो रही थी तो उसके मुंह से यही आवाज निकल रही थी कि यह वर्दियां मनहूस दिन में खरीदी गई थीं।

      23 बच्चों सहित 27 लोगों की हुई थी मौत...

      सोमवार को कांगड़ा के नूरपुर के गहल गुरचाल में बस के दुर्घटनाग्रस्त होने से 27 लोगों की मौत हुई थी। इनमें 23 बच्चे (13 लड़के, 10 लड़कियां) दो टीचर, एक ड्राइवर व एक महिला शामिल है जिसने लिफ्ट ली थी। बस में कुल 37 लोग थे। सोमवार को लगभग 4.30 बजे स्कूल से छुट्टी होने के बाद निजी स्कूल की बस बच्चों को घर छोड़ने जा रही थी। चेली गांव के समीप संकरे रास्ते में एक मोटरसाइकिल वाले को साइड देते हुए बस अनियंत्रित हो गई और 200 फीट गहरी खाई में जा गिरी।

    • नई स्कूल ड्रेस में हुआ 4 बच्चों का अंतिम संस्कार, अर्थियां देख रोते-रोते अचेत हो गई मां
      +3और स्लाइड देखें
      नूरपुर स्कूल बस दुर्घटना में मारे गए खुवाड़ा गांव के एक ही परिवार के चार बच्चे जिनकी अर्थियों को देखकर मां बिलख-बिलख कर रोते हुए अचेत हो गई।
    • नई स्कूल ड्रेस में हुआ 4 बच्चों का अंतिम संस्कार, अर्थियां देख रोते-रोते अचेत हो गई मां
      +3और स्लाइड देखें
      एक साथ जलीं 8 बच्चों की चिताएं।
    • नई स्कूल ड्रेस में हुआ 4 बच्चों का अंतिम संस्कार, अर्थियां देख रोते-रोते अचेत हो गई मां
      +3और स्लाइड देखें
      कांगड़ा बस हादसे के बाद की तस्वीर।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From Shimla

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×