--Advertisement--

कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता तो हिमाचल सरकार देगी 30 लाख रु. के साथ सरकारी नौकरी

सरकार ने हरियाणा की स्पोर्ट्स पॉलिसी स्टडी करनेके अफसरों को दिए निर्देश।

Danik Bhaskar | Mar 29, 2018, 05:32 AM IST
बजट सत्र में खेलमंत्री गोविंद बजट सत्र में खेलमंत्री गोविंद

शिमला. हिमाचल कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले को 30 लाख, सिल्वर वाले को 20 आैर ब्रॉन्ज जीतने वाले को 10 लाख रुपए की राशि के साथ सरकारी नौकरी देगा। बजट सत्र के दौरान खेल मंत्री गोविंद ठाकुर ने ये घोषणा की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार 2002 में बनी खेल नीति के साथ खेल कल्याण काउंसिल फंड के नियमों को भी बदलेगी। विधायक पवन नैयर के सवाल के जवाब में खेल मंत्री ने कहा कि पहाड़ी राज्य के खिलाड़ी देश विदेश में हिमाचल का नाम रोशन करे, इसके लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। गोविंद ठाकुर ने कहा कि देश में हरियाणा की खेल नीति को सबसे बेहतर माना जाता है। राज्य सरकार भी इसी नीति का अनुसरण करेगी।

राज्य में खिलाड़ियों की रैंकिगं का अभी कोई सिस्टम नहीं

- सरकार का मकसद खिलाड़ियों का सुविधाएं मुहैया करवाना है। आने वाले समय में राज्य सरकार हिमाचल में खेल विवि आैर खेल अकादमियों की स्थापना करेगी। राज्य में खिलाड़ियों की रैंकिगं का अभी कोई सिस्टम नहीं हैं, लेकिन पंजाब के पैटर्न पर इसे भी लागू करने का काम किया जाना है।

- विधायक विक्रमादित्य सिंह ने अनुपूरक सवाल में पूछा कि शूटिंग गेम को विश्वविद्यालय या कालेजों में प्रवेश के लिए शामिल करने का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि राज्य में इस खेल की काफी संभावनाएं है, राज्य सरकार की ओर से इसे तरजीह दी जाए तो इसके खिलाड़ी देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी हिमाचल का नाम रोशन करेंगे।

- खेल मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रयास कर रही है कि कोई खिलाड़ी पलायन न करें। इसके लिए उन्हें बेहतर खेल सुविधाएं राज्य में मुहैया करवाई जाएगी।

ये है हरियाणा की खेल नीति

हरियाणा की खेल नीति के अनुसार, काॅमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक विजेता को 1. 5 करोड़, रजत पदक विजेता को 75 लाख और कांस्य पदक विजेता को 50 लाख रुपए दिए जाते हैं। हिस्सा लेने के लिए 7.50 लाख रुपए मिलते हैं। हीं नहीं, ओलिंपिक में गोल्ड जीतने वाले को 6 करोड़, सिल्वर जीतने पर 4 करोड़ और ब्रॉन्ज जीतने पर 2.5 करोड़ रुपए दिए जाते हैं। हिस्सा लेने पर 15 लाख रुपए मिलते हैं। एशियाई गेम्स में स्वर्ण पदक विजेता को 3 करोड़, रजत पदक विजेता को 1. 5 करोड़ और कांस्य पदक विजेता को 75 लाख रुपए दिए जाते हैं।