--Advertisement--

पीटरहॉफ में सीएम के नाम पर चर्चा, बाहर धूमल-जयराम समर्थकों ने की नारेबाजी

दिल्ली में किया जाएगा नाम का एलान, शपथ समारोह में 18 राज्यों के सीएम आएंगे

Dainik Bhaskar

Dec 22, 2017, 07:59 AM IST
CMs name discussed in Peterhoff

शिमला. हिमाचल का सीएम चुनने के लिए नतीजे आने के बाद से ही कवायद चल रही है। कई नाम रेस में हैं जिनमें केंद्रीय मंत्री जेपी नड्‌डा, सिराज से विधायक जयराम ठाकुर और शिमला से विधायक सुरेश भारद्वाज का नाम सबसे ऊपर चल रहा है। वहीं पूर्व सीएम प्रेम कुमार ध्ूमल के लिए भी उनके समर्थक लॉबिंग कर रहे हैं।


ऐसी भी खबरें हैं कि तीन विधायकों ने उनके लिए सीट छोड़ने का ऑफर भी दे दिया है। वीरवार को पार्टी के प्रदेश प्रभारी मंगल पांडे शिमला पहुंचे और पीटरहॉफ में विधायकों व नेताओं के साथ दिनभर मंथन किया। स्थित तब बिगड़ गई जब भीतर विधायक दल की बैठक चल रही थी और बाहर धूमल समर्थक और जयराम समर्थक नारेबाजी करते हुए एक दूसरे से सामने आ गए। जैसे-तैसे उन्हें शांत करवाया गया। शाम करीब चार बजे ऑब्जर्वर निर्मला सीतारमण और नरेंद्र तोमर भी पहुंच गए। उन्हें सीएम चुनने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। शाम को भाजपा कोर कमेटी की बैठक हुई जिसमें प्रेम कुमार धूमल,जयराम ठाकुर, सतपाल सत्ती समेत कई नेता शामिल हुए।

19 साल बाद नेताआें के समर्थक आमने-सामने

हिमाचल भाजपा में 19 साल के बाद नेताआें के समर्थक फिर से आमने सामने खड़े हो गए हैं। 19 साल पहले पार्टी के नए राज्य अध्यक्ष के चयन के लिए धूमल- शांता के समर्थक आमने सामने हुए थे। दिसंबर 1997 में ज्वालामुखी में भाजपा कार्यकर्ता हाथापाई पर उतर आए थे, उस समय नरेंद्र मोदी हिमाचल के प्रभारी थे। इसके बाद प्रदेश अध्यक्ष बदला गया था।

मैं सीएम पद की दौड़ में शामिल नहीं: धूमल

पूर्व सीएम धूमल ने कहा कि मैं सीएम पद की दौड़ में कभी नहीं रहता हूं। यह हाईकमान के अधिकार क्षेत्र में है। पर्यवेक्षक सबसे बातचीत कर रहे हैं। मुझे भी बुलाया गया था। बैठक के दौरान पूर्व सीएम को बाहर तक छोड़ने भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती ही आए। हालांकि, चर्चा यह भी है कि पूर्व सीएम कोर कमेटी की बैठक को बीच में छोड़कर चले गए।

ऑब्जर्वरोंने सीएम की रेस में चल रहे नेताओं से अलग-अलग बातचीत की। लेकिन अभी तक किसी नाम को फाइनल नहीं किया है। निर्मला ने कहा कि उन्हें जीत की खुशी है लेकिन वे अधूरी जीत नहीं पूरी जीत चाहते थे। हालांकि दिनभर चली मैराथन मीटिंग के बाद भी किसी एक नाम पर मुहर नहीं लगी है। अब ऑब्जर्वर इस मामले में शुक्रवार को सांसदों के साथ भी बैठक करेंगे। इसके लिए अनुराग ठाकुर, शांता कुमार, वीरेंद्र कश्यप शिमला पहुंच गए हैं। बैठक के बाद बाहर निकले जयराम ठाकुर ने कहा कि हाईकमान का जो भी फैसला होगा, वह सर्वोपरि होगा। दिन में हुए हंगामे के बाद यह तय हो गया है कि सीएम के नाम का एलान दिल्ली में शुक्रवार या शनिवार को हो सकता है। मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह की संभावना 25 दिसंबर को है। बैठक में शरीक हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने कहा कि मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह रिज पर होगा। इसमें प्रधानमंत्री मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेत 18 राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे।

X
CMs name discussed in Peterhoff
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..