--Advertisement--

पहले जीत की खुशी में चलाए गए पटाखे, धूमल की हार सुनते ही पसर गया सन्नाटा

शाम तक जीत-हार की इस कश्मकश में समर्थकों में भी दिखीं चिंता की लकीरें।

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 07:30 AM IST
और फिर आवास में छाई खामोशी और फिर आवास में छाई खामोशी

समीरपुर. समीरपुर धूमल के घर जहां सुबह ही परिणाम निकलने शुरू हुए, तो कार्यकताओं की भारी भीड़ भी जुटनी शुरू हो गई, लेकिन दोपहर होते-होते यह भीड़ बेहद कम रह गई। धूमल भी अपने घर के भीतर सुबह से ही प्रदेश भर की अपडेट लेते तो रहे, लेकिन वह एक बार भी बाहर नहीं आए।

दोपहर तक चूंकि सुजानपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी राजेंद्र राणा बढ़त बनाए हुए थे, ऐसे में समीरपुर में जुटे कार्यकर्ता रह-रह कर अपडेट ले रहे थे कि इसी दौरान वहां यह खबर फैल गई कि धूमल 4 हजार के करीब बढ़त पर हैं। इसी बीच वहां कार्यकताओं ने पटाखे फोड़ने शुरू कर दिए, लेकिन तभी यह बात सामने आई कि अभी दो रांउड की मतगणना होनी है और करीब 1200 से पीछे चल रहे हैं, तो आवास के बाहर जुटी भीड़ भी छंटनी शुरू हो गई अौर देर शाम तक वहां मीडिया के लोग और कुछ दूसरे कार्यकर्ता ही रह गए।

अनुराग 10:30 बजे गए हमीरपुर

अनुराग ठाकुर रविवार को ही समीरपुर पहुंच गए, वह सोमवार को हमीरपुर के लिए समीरपुर से करीब साढ़े दस बजे के करीब निकल गए। वहां भोरंज से भाजपा की प्रत्याशी कमलेश समर्थकों सहित पहुंच गई। भोरंज से भाजपा की प्रत्याशी कमलेश समर्थकों सहित पहुंच वह दोपहर बाद तक वहीं रहीं और बीच-बीच में अपने परिणाम की फीडबेक मोबाइल पर लेती रहीं। इसी दौरान जब उनकी जीत की खबरें आनी लगींं, तो वह भी करीब 2:00 बजे हमीरपुर की ओर रवाना हो गई। लेकिन देर शाम तक धूमल घर से बाहर नहीं आए। वहां बाहर उनके निवास स्थान पर कुछ समर्थक और मीडिया कर्मी ही बैठे हुए थे। हालांकि देर शाम तक वहां जरुर कई कार्यकर्ता जरूर जुटने शुरू हो गए।

परिवार की रहीं परिणाम पर नजरें

घर में मौजूद उनके परिवार के सदस्यों की नजरें भी परिणाम पर ही लगी रहीं। घर पर उनकी पत्नी शीला धूमल और दूसरे परिजन मौजूद रहे। बाहर जुटे कार्यकर्ताओं ने हमीरपुर के बाल सीनियर सेकंडरी स्कूल में मौजूद दूसरे कार्यकताओं से भी वहां हो रही परिणामों की घोषणा से फीडबैक मोबाइल से ली। हालांकि धूमल की हार की खबर दोपहर को ही कार्यकताओं को लग गई थी, लेकिन देर शाम तक औपचारिक तौर पर घोषणा न होने से कार्यकर्ता भी मायूस ही दिखे। वैसे घर के पास ही रेस्ट हाउस भी खाली-खाली ही रहा और समीरपुर में वाहनों की कतारें भी पिछले चुनावी परिणामों के मुकाबले नहीं दिख पा रही थीं।

जब खबर फैली की धूमल जीते जब खबर फैली की धूमल जीते
X
और फिर आवास में छाई खामोशीऔर फिर आवास में छाई खामोशी
जब खबर फैली की धूमल जीतेजब खबर फैली की धूमल जीते
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..