Hindi News »Himachal »Shimla» Forests Were Taking Sand From The Land

रेत निकालने आए दो मजदूरों की वन विभाग के कर्मियों ने डंडे, लात-घूसों से कर दी पिटाई

दो नेपालियों का कसूर इतना था कि वह वन भूमि से रेत ले जा रहे थे।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 02, 2018, 06:53 AM IST

  • रेत निकालने आए दो मजदूरों की वन विभाग के कर्मियों ने डंडे, लात-घूसों से कर दी पिटाई

    रामपुर बुशहर.रामपुर में वन भूमि से रेत निकाल रहे दो नेपाली मूल के मजदूरों को वन कर्मियों ने बूरी तरह से पिटाई कर दी। वन कर्मियों ने नेपाली मूल के दोनों लोगों को डंडे और लात घूंसों से बूरी तरह पीटा। इस दो नेपालियों का कसूर इतना था कि वह वन भूमि से रेत ले जा रहे थे।

    ऐसा नहीं है कि वन भूमि से या फिर सतलुज के किनारे से रेत निकालने की शिकायतें पहले नहीं आतीं, लेकिन नेपाली मजदूर दो पैसा ज्यादा कमाने के चक्कर में रेत को गाड़ी तक ढोकर लाते हैं। ऐसे में वन कर्मियों का बस उन गाड़ी वालों पर तो नहीं चला, लेकिन बेचारे नेपाली वन कर्मियों के गुस्से के शिकार हो गए।

    इस दौरान जब वन कर्मी इन दोनों नेपालियों को डंडों और लात घुंसों से पीट रहे थे, तो किसी ने इस घटना की वीडियो बना लिया और ये वीडियो वायरल हो गया, जिसमें ने भी ये कहते हुए कर्मियों को देखा जा रहा है कि वह एक ही बात कह रहे है ं 'वन कर्मियों के हाथ मजदूर लगे।'

    नेपालियों को बेरहमी से मारना सरासर गलत

    यहां अवैध रेत का कारोबार कर लाखों रुपए कमाने वालों पर वन विभाग हाथ डालने से डरता है। वहीं नेपालियों को मार कर भले ही विभाग के कर्मी खुद को शाबाशी दे रहे हों, लेकिन कर्मियों की ये कार्रवाई कानून व्यवस्था पर भी बड़ा प्रश्न खड़ा करती है। लोगों का कहना है कि जब हर गलत काम के लिए कानून बना है, तो नेपालियों को बेरहमी से मारना सरासर गलत है। लोगों का कहना है कि अगर अवैध रेत का कारोबार रोकना है तो वन विभाग उन लोगों पर सख्ती बरते जो दिन का लाखों रुपया कमा रहे हैं। नेपाली मजदूर दिहाड़ी पर काम करते हैं। उनका काम तो रेत को निकालना और गाड़ी में भरता तक रहता है। यहां अवैध खनन करने के बड़े मामलों पर विभाग कार्रवाई नहीं कर पाता है।

    दोनों मजदूरों को पिटाई करते वक्त का वीडियो हुआ वायरल
    बड़े लोगों पर करवाई से कतराता है विभाग लोगों ने कहा कि दत्तनगर, नोगली, बजीरबावड़ी में हर दिन दर्जनों ट्रकों में रेत ले जाई जाती है। यहां अवैध खनन जोरेां पर रहता है। जिस पर कारवाई करने से हर कोई विभाग कतराता रहता है। खनन विभाग भी आंखें मुंदे हुए हैं। अब जब नेपालियों की बेरहमी से पिटाई की वीडियो वायरल हो गई है, तो वन विभाग को भी इस पर जबाव देना मुश्किल हो रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×