--Advertisement--

पुलिस ने पार्षद व पूर्व मेयर सहित कईयों को नहीं जाने दिया अंदर, कहा VIP पास दिखाओ

भाजपा कार्यकर्ता सुषमा व अन्य महिला कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पंडाल के अंदर एंट्री ही नहीं करने दी।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 07:59 AM IST
शिमला में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान पास होने के बावजूद लोगों को बैैैैठने के लिए धक्का मुक्की करनी पड़ी। पुलिस को पास भी दिखाए, फिर भी नहीं जाने दिया। शिमला में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान पास होने के बावजूद लोगों को बैैैैठने के लिए धक्का मुक्की करनी पड़ी। पुलिस को पास भी दिखाए, फिर भी नहीं जाने दिया।

शिमला. रिज मैदान में शपथ ग्रहण समारोह में कई भाजपा के पार्षद भी पंडाल के अंदर कुर्सियों में बैठकर समारोह का आनंद नहीं उठा पाए। छोटा शिमला पार्षद विदुषी, पूर्व महापौर मधु सूद, पूर्व पार्षद लोअर बाजार की भारती सूद, जोधा निवास की पूर्व पार्षद अनिला कश्यप, कृष्णा नगर पूर्व पार्षद रजनी सिंह, भाजपा कार्यकर्ता सुषमा व अन्य महिला कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पंडाल के अंदर एंट्री ही नहीं करने दी।


पुलिस ने इनसे वीवीआईपी पास दिखाने को कहा तो वो इन लोगों के पास नहीं थे। जिसके चलते इन्हें पंडाल में एंटर नहीं होने दिया। ये महिलाएं भाजपा का निमंत्रण पत्र लेकर पहुंची थी। पुलिस ने कहा कि इस निमंत्रण पत्र में वीवीआईपी नहीं लिखा है। इसलिए अंदर नहीं जाने देंगे। जिस कारण भाजपा पार्षद व पूर्व महापौर, कार्यकर्ताओं ने बाहर खड़े होकर ही कार्यक्रम को देखा।
वहीं कसुम्पटी वार्ड के भाजपा कार्यकर्ता सुरेश चौहान भी पुलिस के रवैये से नाराज दिखे। वह अपने हाथ में निमंत्रण पत्र लेकर बाहर खड़े रहे।

सुरेश चौहान ने कहा कि रात ढाई बजे तक पार्टी कार्यालय में काम में व्यस्त रहे। अब निमंत्रण पत्र लेकर आया हूं तो पुलिस अंदर नहीं जाने दे रही है। उन्होंने कहा कि मुझे क्या पता कि वीवीआपी पास लेकर आना चाहिए था लेकिन हम भी तो भाजपा के कार्यकर्ता है पुलिस को अंदर छोड़ देना चाहिए था। उन्होंने बताया कि लोगों में पुलिस के इस रवैये के प्रति खासा रोष था। उधर स्कैंडल प्वाइंट पर भी ऐसा देखने को मिला है। लोगों को पुलिस ने रिज मैदान की तरफ आने रोक दिया था, लेकिन लोग खुद ही पुलिस के घेरे को तोड़कर आगे निकल गए।

कई जगहों पर लोगों से उलझी पुलिस

भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस से अंदर जाने की गुहार भी लगाई लेकिन पुलिस ने इनकी एक भी नहीं सुनी। यहां तक कई लोग पूर्व महापौर मधू सूद के पक्ष में आगे आए कहा कि ये एक्स मेयर है, शहर की सबसे प्रतिष्ठित महिला है। इन्हें अंदर छोड़ दो लेकिन पुलिस भी लोगों से उलझ गई कहा कि हम बिना वीवीआईपी पास के अंदर किसी को भी नहीं छोड़ सकते है। जिससे पार्षद व पूर्व महापौर मधू सूद पुलिस के रवैये से नाराज दिखी। भले की कुछ ने अपने गले में भाजपा का पटका भी डाला था वह भी काम नहीं आया। भाजपा की इन सक्रिय महिला कार्यकर्ता ने पुलिस की पंडाल के अंदर एंट्री न देने के कारण तीन घंटे रिज मैदान के पदम कॉम्प्लेक्स के उपर खड़ी रही और वहीं से खड़े होकर शपथ समरोह को देखा।

महिला पार्षद व पूर्व मेयर को शपथ समारोह में आने का निमंत्रण दिया था लेकिन उन्हें पंडाल के अंदर नहीं जाने दिया। महिला पार्षद व पूर्व मेयर को शपथ समारोह में आने का निमंत्रण दिया था लेकिन उन्हें पंडाल के अंदर नहीं जाने दिया।
रामचंद्रा चौक से गर्वनर हाउस की तरफ जाने वाला रास्ता बंद किया गया था। रामचंद्रा चौक से गर्वनर हाउस की तरफ जाने वाला रास्ता बंद किया गया था।