--Advertisement--

325 गाड़ियाें के काफिले में आएंगे पीएम और 11 सीएम, ऐसा होगा शपथ ग्रहण समारोह

हिमाचल प्रदेश के 13वें मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर आज लेंगे शपथ, तैयारियां पूरी

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 07:30 AM IST
पीएम के तीन हेलीकाप्टर अलग से होंगे। इन्हें लाने के लिए वीआईपी वाहनों आैर पंजाब के जैमर विशेष तौर पर लगाए गए हैं। पीएम के तीन हेलीकाप्टर अलग से होंगे। इन्हें लाने के लिए वीआईपी वाहनों आैर पंजाब के जैमर विशेष तौर पर लगाए गए हैं।

शिमला. प्रदेश के 13वें सीएम के रूप में जयराम ठाकुर बुधवार को शपथ लेंगे। प्रधानमंत्री और 13 राज्यों के 11 सीएम और 2 डिप्टी सीएम रिज पहुंचेंगे। इसके लिए 325 गाड़ियाें का काफिला तैयार किया गया है। शिमला में इससे पहले आज तक किसी भी मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण के लिए इतना बड़ा इंतजाम कभी नहीं किया गया है।

प्रधनमंत्री और अन्य राज्यों के सीएम-डिप्टी सीएम व केंद्रीय मंत्रियों को लाने के लिए 325 गाड़ियों का इंतजाम किया गया है। समारोह स्थल तक पहुंचाने के लिए राज्य सचिवालय की 252 और बाकी बोर्ड कॉर्पोरेशन्स से 73 गाड़ियां ली गई हैं।


मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह समेत अन्य के 14 हेलीकॉप्टर अनाडेल में उतरेंगे तो 3 चार्टड प्लेन जुब्बड़हट्टी एयरपोर्ट पर। जीएडी विभाग ने अपने पूल के सचिवालय आैर विभागों से मंगवा कर 325 वाहनों का काफिला तैयार किया है।

लाल कृष्ण आडवाणी, सुषमा और राजनाथ भी आएंगे

शपथ ग्रहण समारोह में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, छत्तीसगढ़ के डाॅ. रमन सिंह, यूपी के योगी आदित्यनाथ, महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस, राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे, गुजरात के सीएम विजय रुपाणी, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, झारखंड के रघुवार दास , असम के सीएम सरबंदा सोनोवाल व अन्य पहुंचेंगे।

इसके अलावा भाजपा के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी और आनंत कुमार सहित 8 केंद्रीय मंत्री भी आ रहे हैं। उधर, शपथ ग्रहण समारोह से पहले ही दो अफसरों को नियुक्त कर दिया गया। 2001 बैच के एचएएस अफसर विनय सिंह सीएम जयराम ठाकुर के प्रधान निजी सचिव कम अतिरिक्त सचिव होंगे। वहीं, एचपीएस अफसर सुशील कुमार को एएसपी सीएम सुरक्षा के पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

छह मंत्री भी सीएम के साथ ले सकते हैं शपथ

सीएम के साथ शपथ के लिए सहमति भाजपा के पांच या छह मंत्रियों में बन सकती है, हालांकि मंत्रियों के चयन में अभी तक तीनों ही गुटों में जंग चली है। इस कारण भाजपा के राज्य स्तर के नेता हाईकमान की सहमति लेने की तैयारी में हैं। इसलिए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह टल भी सकता है।