--Advertisement--

एग्जाम शीट में लिखा- मैं संसार से बोर हो चुका हूं, बाय...फिर स्टूडेंट ने किया सुसाइड

10 वीं में होने के कारण वह स्कूल में ही एक्स्ट्रा क्लासेज अटेंड कर रहा था।

Dainik Bhaskar

Dec 23, 2017, 02:23 AM IST
मृतक स्टूडेंट दीपेश ठाकुर मृतक स्टूडेंट दीपेश ठाकुर

सोलन/कसौली. जिले के कसौली इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल (बोर्डिंग) के 10 क्लास के स्टूडेंट दीपेश ठाकुर ने एग्जाम के दौरान फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। स्कूल मैनेजमेंट इसे सुसाइड बता रहा है जबकि स्टूडेंट के पिता दिनेश कुमार के पिता ने मर्डर का आरोप लगाकर CBI जांच की मांग की है। ये था मामला...

स्कूल में 9 दिसंबर से छुटि्टयां चल रही हैं लेकिन 10 वीं में होने के कारण वह स्कूल में ही एक्स्ट्रा क्लासेज अटेंड कर रहा था। घटना गुरुवार शाम करीब छह बजे की है। स्कूल में टेस्ट चल रहा था। इसी दौरान वह उल्टी होने की बात कहकर हॉल से निकाला। कुछ देर बाद वह स्कूल के अंदर लगी रेलिंग में एक पगड़ी के फंदे से लटका मिला। स्कूल स्टॉफ उसे हॉस्पिटल ले गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

ये लिखा है आंसर सीट में

DSP परवाणू भीष्म सिंह ठाकुर ने बताया कि जांच में पुलिस के हाथ उसकी एग्जाम शीट लगी है। इसमें वह दिल्ली की ट्रैफिक व्यवस्था पर कुछ लिख रहा था। बीच में उसने लिखा- मैं इस संसार से बोर हो चुका हूं मम्मी-पापा मैं आपको ढेर सारा प्यार करता हूं व टीचर्स से भी, अनु मेम बाय। पुलिस ने शीट को कब्जे में ले लिया है। दीपेश के फ्रेंड विभोर ने कहा कि गुरूवार को मिल्क ब्रेक के दौरान उन दोनों ने खूब मस्ती की। उसके नेचर में भी कोई बदलाव नहीं था और उसकी किसी से कोई लड़ाई नहीं थी।

मेरे बेटे की हत्या की गई, सीबीआई जांच हो

दीपेश के पिता दिनेश कुमार ने बेटे की मौत के लिए स्कूल प्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया। कहा, वीरवार शाम को उन्हें फोन पर कहा कि धर्मपुर अस्पताल पहुंच जाएं। जब वे अस्पताल पहुंचे तो वहां बेटे का शव रखा था। उन्होंने कहा कि दीपेश पढ़ाई में काफी होशियार था और हमेशा टॉपर्स में शामिल रहता था। वह पिछले चार साल से इस स्कूल में पढ़ रहा था। सुसाइड की कोई वजह नहीं है। जरूर उसका मर्डर हुआ है या सुसाइड के लिए मजबूर किया गया है। आंसरशीट पर जो लिखा गया है उसकी भी हैंडराइटिंग एक्सपर्ट से जांच हो। इस मामले की जांच भी सीबीआई से करवाई जानी चाहिए।

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज कब्जे में लिए
पुलिस ने स्कूल में लगे सीसीटीवी फुटेज कब्जे में ले लिए हैं। दीपेश का उसके रूम में रखा हुआ सामान भी सील कर दिया है। पुलिस के अनुसार स्कूल में कुल 54 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। स्कूल प्रशासन का दावा है कि सभी कैमरे चालू हालत में हैं, जिसमें दीपेश की दिनचर्या भी कैद हुई है। लेकिन जहां पर दीपेश ने फंदा लगाया, वहां उस समय लाइट नहीं थी। लाइट कैसे बंद हुई इसकी जांच की जा रही है।

रोती हुई मृतक दीपक की फैमिली। रोती हुई मृतक दीपक की फैमिली।
दीपेश ठाकुर के पिता दिनेश। दीपेश ठाकुर के पिता दिनेश।
दीपेश की रिलेटिव। दीपेश की रिलेटिव।
स्टूडेंट दीपेश ठाकुर स्टूडेंट दीपेश ठाकुर
फांसी लगाने के बाद दीपेश की बॉडी। फांसी लगाने के बाद दीपेश की बॉडी।
दिनेश ठाकुर दीपेश के पिता। दिनेश ठाकुर दीपेश के पिता।
X
मृतक स्टूडेंट दीपेश ठाकुरमृतक स्टूडेंट दीपेश ठाकुर
रोती हुई मृतक दीपक की फैमिली।रोती हुई मृतक दीपक की फैमिली।
दीपेश ठाकुर के पिता दिनेश।दीपेश ठाकुर के पिता दिनेश।
दीपेश की रिलेटिव।दीपेश की रिलेटिव।
स्टूडेंट दीपेश ठाकुरस्टूडेंट दीपेश ठाकुर
फांसी लगाने के बाद दीपेश की बॉडी।फांसी लगाने के बाद दीपेश की बॉडी।
दिनेश ठाकुर दीपेश के पिता।दिनेश ठाकुर दीपेश के पिता।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..