--Advertisement--

वेलकम 2018 : कुछ इस तरह हुआ नए साल का वेलकम, डीजे की धुन पर थिरके पैर

नएसाल के जश्न को लेकर रविवार को काफी संख्या में लोग शिमला पहुंचे।

Danik Bhaskar | Jan 01, 2018, 03:10 AM IST

शिमला. नए साल का जश्न हिल्स क्वीन में मनाने के लिए निकले बाहरी राज्यों से शिमला के लिए निकले पर्यटकों को परमाणू से लेकर शिमला तक जाम का सामना करना पड़ा। रविवार का दिन होने के बावजूद भी पर्यटकों को घंटों तक लंबे जाम में बिताने पर मजबूर होना पड़ा। वहीं जाम से लोगों को राहत पहुंचाने के लिए पुलिस प्रशासन के इंतजाम ज्यादातर स्थानों में नाकाफी ही दिखे।

हिमाचल में एंटर होते ही पर्यटकों को जाबली में जाम का सामना करना पड़ा और इसके बाद कुमारहट्टी, सोलन, कंडाघाट, शोघी से लेकर शिमला तक जाम की समस्या से जूझना पड़ा। चंडीगढ़ से शिमला पहुंचने में जहां आम दिनों में 3 से 4 घंटों में पहुंचने का समय लगता था वहीं रविवार को शिमला पहुंचने में लोगों को 5 से 7 घंटे भी लगे हैं। इसके बावजूद भी पर्यटकों ने स्थान स्थानों में अपने वाहनों में ही म्यूजिक बजाकर आनंद लिया। रिज मैदान और मालरोड में पर्यटकों ने नए साल को सेलिब्रेट किया। इस दौरान मालरोड के आस पास के ज्यादातर रेस्टोरेंट भरे रहे।

नएसाल के इंतजार में शहर के होटलों में रात 12 बजे जश्न चलता रहा। होटलों की ओर से गेस्ट के मनोरंजन के लिए विशेष इंतजाम किए गए थे। गेस्ट को लजीज खाने परोसने के लिए स्पेशल सैफ बुलाए गए थे। इसके अलावा होटलों में डीजे, डांस, लाइव म्यूजिक, बोन फायर, गेम्स और अन्य एक्टिविटी भी रखी गई थी ताकि पर्यटक नए साल के जश्न को यादगार बना सके।

नएसाल के जश्न को लेकर रविवार को काफी संख्या में लोग शिमला पहुंचे। इस दौरान रिज पर देर रात तक नए साल का जश्न चलता रहा। नए साल के स्वागत के लिए पर्यटकों ने कई तरह की एक्टिविज किए। शिमला में रिज मैदान पर नए साल के जश्न पर काफी संख्या में पर्यटक पहुंचे हुए थे। सुबह से ही रिज मैदान पर पर्यटक मस्ती करते दिखे। इस दौरान बच्चों ने भी घुड़सवारी अन्य खेलों का मजा लिया। रात को कई लोगों ने गीत-संगीत के साथ नए साल का जश्न मनाया। इस दौरान शिमला में रविवार को नववर्ष के अवसर पर मुख्य गुरद्वारा भी लाइट्स से जगगमाता दिखाई दिया।