• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • पांवटा शहर में थम नहीं रहा नशे का कारोबार, शिक्षण संस्थाओं के युवा तस्करों के निशाने पर
--Advertisement--

पांवटा शहर में थम नहीं रहा नशे का कारोबार, शिक्षण संस्थाओं के युवा तस्करों के निशाने पर

श्यामलाल पुंडीर | पांवटा साहिब पांवटा साहिब में नशे का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां पर आए दिन पुलिस के...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:05 AM IST
पांवटा शहर में थम नहीं रहा नशे का कारोबार, शिक्षण संस्थाओं के युवा तस्करों के निशाने पर
श्यामलाल पुंडीर | पांवटा साहिब

पांवटा साहिब में नशे का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां पर आए दिन पुलिस के हत्थे नशे के सौदागर चढ़ते है। फिर भी नशे की खेप पांवटा पहुंच रही है। पांवटा पुलिस हर महीने नशे के तस्करों को पकड़ती है मगर फिर भी नशे का कारोबार थम नहीं रहा है। नशे के कारण पांवटा में युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है। युवाओं में नशे की लत लगने के कारण खुद कई युवा नशे की तस्करी में लग गई है। युवा दूसरे राज्यों से तस्करों के संपर्क में रहते हैं। नशे के तस्करों के निशाने पर कालेज व शिक्षण संस्थाओं के युवा व युवतियां है। पांवटा व शिलाई क्षेत्र में नशे का कारोबार इतना बढ़ गया है कि अब युवाओं के परिजन बच्चों को नशे की लत से छुटकारा दिलाने के लिए नशा मुक्ति केंद्रों में ले जा रहे हंै।

150 को नशा मुक्त केंद भेजा

पांवटा में नशे के कारोबार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है। कि इस समय पांवटा व शिलाई उप मंडल से करीब 150 से ज्यादा युवाओं को उनके परिजन इलाज के लिए विभिन्न नशा मुक्ति केंद्र में ले जा रहे हैं। कई युवा ठीक होकर आएं हैं मगर कई युवा नशा मुक्ति केंद्र में भी सुधर नहीं पाए। जिससे युवाओं के परिजन बच्चों की नशे की लत से परेशान हो चुके है।

आए दिन पुलिस के हत्थे चढ़ते हैं नशे के सौदागर, फिर भी नहीं रुक रहा नशे का कारोबार, युवा पीढ़ी हो रही है बर्बाद

नशे की तरफ युवा पीढ़ी बढ़ रही है तेजी से

नशे की तरफ युवा पीढ़ी इतनी तेजी से बढ़ रही है कि पांवटा व शिलाई से करीब 150 से अधिक युवाओं का उत्तराखंड व हरियाणा में इलाज चल रहा है। इसके अलावा पांवटा के नशा मुक्ति केंद्रो में भी युवाओं का नशा छुड़ाने के लिए इलाज चल रहा है। पांवटा के स्कूलों व कालेजों के के भी कई युवा नशे की चपेट में हैं। पांवटा के नशा मुक्ति केंद्र के संचालकों ने बताया कि पांवटा में नशा बहुत ज्यादा बढ़ रहा है। पांवटा साहिब में नशा मुक्ति केंद्रों में 50 से ज्यादा युवाओं का इलाज चल रहा है। इसके अलावा उतराखंड के देहरादून, विकासनगर, हर्बटपुर व हरियाणा के यमुना नगर में भी कई केंद्रों में नशे से छुटकारा दिलाने के लिए परिजनों ने अपने बच्चों का इलाज करवा रहे हंै। हालांकि पांवटा पुलिस नशे के सौदागरों के खिलाफ अभियान चला रही है। मगर फिर भी नशे की खेप पांवटा पहुंच रही है। उतराखंड, हरियाणा व उतर प्रदेश की सीमा पर स्थित होने के कारण भी आसानी से पड़ोसी राज्यों के नशे के सौदागर पांवटा साहिब को अपना ठिकाना बना रहे हंै। जिस कारण नशे की तस्करी थम नहीं रही है। पांवटा साहिब नशे की तस्करी का अड्डा बन चुका है। इस बारे में पांवटा के डीएसपी प्रमोद चौहान ने बताया कि पुलिस ने नशे के खिलाफ कई बार अभियान चलाया है। इसके बाद कई तस्करों को सलाखों के पीछे भी भेजा है।

X
पांवटा शहर में थम नहीं रहा नशे का कारोबार, शिक्षण संस्थाओं के युवा तस्करों के निशाने पर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..