शिमला

--Advertisement--

यमुना घाट पर आज तक नहीं बना महिलाओं के लिए स्नानागार

पांवटा साहिब | प्रसिद्ध धार्मिक नगरी पांवटा साहिब विश्व मानचित्र पर अपनी अलग पहचान बना चुकी है। मगर हैरानी की बात...

Danik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:05 AM IST
पांवटा साहिब | प्रसिद्ध धार्मिक नगरी पांवटा साहिब विश्व मानचित्र पर अपनी अलग पहचान बना चुकी है। मगर हैरानी की बात यह है कि इस धार्मिक नगरी में जो सुविधाएं श्रद्धालुओं के मिलनी चाहिए, वह सुविधाएं आज तक सरकार व स्थानीय प्रशासन नहीं दे पाया है। यहां पर प्रसिद्ध गुरूद्वारा व श्रीकृष्ण मंदिर के द्वार यमुना घाट पर खुलते हैं। मगर यमुना घाट पर आज तक स्नानागार नहीं बनाया गया है। जहां पर महिलाएं पवित्र स्नान कर सकें। यहां पर महिलाएं मां यमुना में डूबकी लगाने आती हैं। मगर यहां पर कपड़े बदलने के लिए भी कोई सुविधाएं नहीं है। पांवटा की महिलाओं समीर शर्मा, आशा तोमर, स्नेहा दत्ता व शिवानी आदि ने बताया कि यमुना घाट पर स्नानागार का निर्माण होना चाहिए। ताकि महिलाओं को परेशानी ना हो। उन्होंने कहा कि पांवटा साहिब ही प्रदेश का एकमात्र ऐसा शहर है, जिससे होकर यमुना नदी बहती है। यमुना नदी उतराखंड से हिमाचल के इस शहर से होते हुए हरियाणा की तरफ निकलती है।

Click to listen..