--Advertisement--

अवकाश वाले दिन भी अधिकारियों ने किया साइट्स का स्पॉट विजिट

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के आदेशों के बाद अधिकारियों ने तय लक्ष्य को हासिल करने के लिए अपनी कमर कस दी है।...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 AM IST
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के आदेशों के बाद अधिकारियों ने तय लक्ष्य को हासिल करने के लिए अपनी कमर कस दी है। मुख्यमंत्री के आदेशों को अधिकारियों ने इतनी गंभीरता से ले लिया है कि अधिकारी अवकाश वाले दिन में फील्ड में डटे रहे। अतिरिक्त मुख्य सचिव शहरी विकास तरुण कपूर ने बुधवार को अवकाश वाले दिन शिमला में हिमुडा की साइटों का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने जाठिया देवी, भराड़ी, खलिणी, कसुम्पटी और न्यू शिमला में हिमुडा की कॉलोनियों और खरीदी गई जमीन का जायजा लिया। उनके साथ हिमुडा के सीईओ दिनेश कश्यप सहित दूसरे अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। हिमुडा प्रबंधन ने सौ दिन के भी प्रदेश भर में 1256 घर बनाने का लक्ष्य तय किया है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए एसीएस ने बुधवार को अवकाश वाले दिन अपनी टीम के साथ स्पॉट विजिट करके तय लक्ष्य को हासिल करने के लिए जरुरी दिशा निर्देश जारी किए। एसीएस ने हिमुडा प्रबंधन को स्थानीय लोगों की मांग जो जेब को ध्यान में रख कर कम कीमत के मकान बनाने को कहा है, ताकि प्रदेश के लोग इसे आसानी से खरीद सके। हिमुडा प्रबंधन को जाठिया देवी में इसी तरह के घर बनाने काे कहा गया है। जो लोगों की जरुरतों को पूरा कर सके।

न्यू शिमला जैसी गलती न दोहराने के आदेश अतिरिक्त मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि हिमुडा प्रबंधन ने न्यू शिमला में बनाई गई कॉलोनियों को लेकर जो गलतियां की है वह शहर में बनाई जाने वाली दूसरी अन्य कॉलोनियों में न की जाए। न्यू शिमला में न तो रोड नेटवर्क पर काम हुआ, न सीवरेज और न पानी की उचित व्यवस्था पर ही ध्यान दिया गया। आलम यह है कि इस क्षेत्र में आने जाने के लिए सिर्फ एक ही रास्ता बनाया गया है जो आज लोगों के लिए परेशानी का सबब बन चुकी है। नई कॉलोनियां बनाने से पहले अधिकारियों को रोड प्लान पर ध्यान देने को कहा गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..