--Advertisement--

बजट पर उम्मीद की निगाह

नई दिल्ली में केंद्रीय वित्त मंत्री बजट पेश कर रहे थे। इसमें क्या हासिल हुआ है, इसे जानने की इच्छा देश के हर नागरिक...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:05 AM IST
नई दिल्ली में केंद्रीय वित्त मंत्री बजट पेश कर रहे थे। इसमें क्या हासिल हुआ है, इसे जानने की इच्छा देश के हर नागरिक में रहती है। शिमला में मालरोड पर इसी उम्मीद के साथ टीवी शो रूम के बाहर एकत्र हुए लोग बजट देखते हुए। फोटो :अजय भाटिया

शिक्षा व स्वास्थ्य सेस बढ़ाकर बोझ डाला गया: माकपा

सिटी रिपोर्टर। शिमला

माकपा के हिमाचल प्रदेश राज्य सचिवमंडल ने केंद्रीय बजट देश की आम जनता के लिए निराशाजनक करार दिया है। माकपा सचिवमंडल सदस्य संजय चौहान ने कहा कि बजट में मजदूर व किसान के लिए कुछ भी नहीं है उल्टा उन पर शिक्षा व स्वास्थ्य सेस बड़ा कर बोझ डाला गया है। इस बजट में केवल पूंजीपति वर्ग को फायदा पहुंचाने के लिये कॉरपोरेट टैक्स में बड़े कॉरपोरेट घरानों को छूट के दायरे में लाने का कार्य किया है। समस्त जन सेवाओं चाहे शिक्षा, स्वास्थ्य, अन्य जन सेवाएं अथवा केंद्र सरकार की अन्य फ्लैगशिप योजनाओं के बजट में कटौती की गई है और जो भी घोषणाएं की गई है उनके लिए धन का प्रावधान सही मायने में नहीं किया गया है।

उन्होंने कहा कि केंद्रीय बजट में हिमाचल प्रदेश के लिए कोई भी विशेष प्रावधान नहीं किया गया है और प्रदेश की जनता को निराशा ही मिली है। मुख्यमंत्री कई बार दिल्ली जा कर प्रदेश को विशेष सहायता की मांग करते रहे हैं परंतु बजट में निराशा ही हाथ लगी है। प्रदेश में बुनियादी ढांचा जिसमें विशेष तौर पर रेलवे विस्तार के लिए कोई प्रावधान नहीं किया है। पार्टी का मानना है कि केंद्र की बीजेपी की मोदी सरकार का मौजूदा बजट केवल सरकार का जुमला अर्थशास्त्र का ही हिस्सा है तथा इससे देश की आम जनता पर आर्थिक बोझ पड़ेगा व संकट बढ़ेगा और इससे केवल अंतरराष्ट्रीय वित्तीय पूंजी व बड़े कॉरपोरेट घरानों को लाभ होगा।

रसोई घर की चीजें महंगी हो गई: दीपा- दीपा ने कहा कि इस महंगाई के दौर में रसोई घर की चीजें सस्ती होनी चाहिए थी। लेकिन रिफाइंड वेजिटेबल ऑयल महंगे हो गए है। तेल महंगा होने से तड़का किस चीज से लगाएंगे। ऑरेंज फ्रूट जूस, क्रेनबरी जूस महंगे होने से अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

मेकअप करना भी मुश्किल: डाॅ. सुशीला- डॅा. सुशीला ने कहा कि महिलाओं के लिए सजने संवरने का समान सनस्क्रीन, मेनीक्योर, पेडीक्योर व मेकअप समान पर कस्टम ड्यूटी 20 प्रतिशत लगाने पर यह समान महंगा हो जाएगा। इस पर छूट मिलनी चाहिए थी। इस महंगाई के दौर में महिलाएं कैसे अपना मेकअप कर पाएंगी।

एलईडी के दाम भी बढ़ेंगे: सुभाष - सेवानिवृत्त इंजंीनियर सुभाष वर्मा शेविंग के समान, डियोड्रेंट, मोटरकारों के पार्ट्स, मोटरसाइकल आदि का समान महंगा हो जाएगा। वहीं एलसीडी, एलईडी ओएलईडी टीवी और इनके पार्ट्स,भी महंगे हो जाएंगे। यह सभी लोगों के घर की जरूरत है यह एलईडी सस्ते होने चाहिए थे।

जूतों पर पड़ा असर: जीआर भारद्वाज - जीआर भारद्वाज का कहना है कि बजट में कुछ खास नहीं दिखा है। मोबाइल पार्टस पर कस्टम डयूटी 20प्रतिशत कर दी है। मोबाइल के चार्जर, एडॉप्टर, प्लास्टिक का समान, फोन का चार्जर ,जूते महंगे होने से इससे अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

केंद्र ने पहाड़ी प्रदेश हिमाचल की उम्मीदों पर पानी फेर दिया: अग्निहोत्री

शिमला | कांग्रेस विधायक दल के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली का बजट निराशाजनक है। बजट में पहाड़ी प्रदेश हिमाचल की उम्मीदो पर पानी फेर दिया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बजट से पहले तीन चार बार दिल्ली गए मगर हिमाचल का पक्ष सही तरह नहीं रख पाए। प्रदेश सरकार अपने स्वागतों में मसरूफ रही, इसलिए हिमाचल के हितों की अनदेखी हो गई। यह बजट महंगाई महंगाई को बढ़ाने वाला है। केंद्र सरकार ने आयकर स्लैब में बदलाव नहीं किया। मिडल क्लास के सपने धराशायी हो गए हैं। किसानों और छोटे कारोबारियों के लिए कुछ नहीं किया। सरकार रोजगार के मसले में पूरी तरह से नाकाम रही है।

बजट से थी काफी उम्मीदें मिला कुछ नहीं

रोजमर्रा की चीजें होनी चाहिए थी सस्ती, सस्ते हो गए काजू

महिलाएं आम बजट से नाखुश

बजट में रिफाइंड वेजिटेबल ऑयल हुए महंगे

खिलौने खरीदना भी जेब पर भारी: चांदनी- गृहिणी चांदनी सूद ने कहा कि सिल्क फैब्रिक, लाइटर सस्ते होने चाहिए थे। यह भी महंगे हो गए हैं। बच्चों के खिलौने, तीन पहिए वाली साइकिल, पैडलकार, वीडियो गेम कंसोल भी मंहगे हो गए हंै। महंगाई के दौर में किस तरह से यह चीजें खरीदेंगे ।

नकली गहने भी: रजनी - स्टूडेंट रजनी ने कहा कि आम लोग जो असली गहने नहीं खरीद सकते, वह आर्टिफिशियल ज्वैलरी से अपना शौक पूरा कर लेते है। लेकिन अब इसमें कस्टम ड्यूटी बीस प्रतिशत लगा दी है। अब लड़कियां व महिलाएं कैसे अपना शौक पूरा कर पाएंगे।

घड़ी भी हाथ से बाहर: साहिल - युवा साहिल ने कहा कि स्मार्ट वॉच, इसी तरह से सभी डिवाइस महंगे हो गए हंै। रिस्ट वॉच, पॉकेट वॉच, स्टॉप वॉच और अलार्म क्लार्क सब महंगे हो गए हैं। किस तरह से इन चीजों को खरीदेंगे। वहीं डॉल सहित सभी प्रकार के खिलौने भी महंगे हो जाएंगे।

काजू से क्या करना: संध्या - निजी क्षेत्र में कार्यरत संध्या राणा ने कि घर के अंदर सजाने के लिए फर्नीचर का समान महंगा हो गया है। परफ्यूम भी महंगी हो जाएगा। लेकिन कच्चा काजू सस्ता हो जाएगा। काजू से कोई लेना देना नहीं है। घर के अंदर की चीजें सस्ती मिलनी चाहिए।

सिटी रिपोर्टर |शिमला

शिमला के लोगों को केंद्र के बजट को लेकर काफी उम्मीदें थी लेकिन इसमें उन्हें कुछ खास नहीं मिल पाया है जिससे निराशा हाथ ही हाथ लगी है। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने वीरवार को आम बजट पेश किया। बजट में सरकार ने देश के बाहर से आने वाली चीजों पर कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी है िजस कारण ज्यादातर चीजें महंगी भी हुई हंै तो काजू सस्ते हो जाएंगे। महिलाओं ने कहा कि काजू से कोई लेना देना नहीं। खाने पीने की चीजें सस्ती होनी चाहिए थी। आम लोगों पर महंगाई की मार नहीं पड़नी चाहिए थी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..