• Home
  • Himachal Pradesh News
  • Shimla News
  • 94 हाईडल प्रोजेक्ट्स से चमकेंगे गांव और कस्बे, नहीं रहेगी बिजली समस्या
--Advertisement--

94 हाईडल प्रोजेक्ट्स से चमकेंगे गांव और कस्बे, नहीं रहेगी बिजली समस्या

हिमाचल प्रदेश में 94 हाईडल प्रोजेक्ट्स लगाए जाएंगे। इससे जहां पर बिजली समस्या है वहां पर बिजली आपूर्ति पूरी की...

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 02:05 AM IST
हिमाचल प्रदेश में 94 हाईडल प्रोजेक्ट्स लगाए जाएंगे। इससे जहां पर बिजली समस्या है वहां पर बिजली आपूर्ति पूरी की जाएगी। इन प्रोजेक्टों से 192.70 मेगावाट बिजली उत्पादित की जाएगी। ये सभी हाईडल प्रोजेक्ट निजी क्षेत्र में लगेंगे। जहां से हिमाचल प्रदेश विद्युत बोर्ड इस बिजली को खरीदेगा। यह हाईडल प्रोजेक्ट प्रदेश सरकार द्वारा मंजूर किए जाते हैं। गौर हो कि दिसंबर 2016 में इन प्रोजेक्ट्स को मंजूरी मिली है। जिसके अनुसार 24 माह के भीतर संबंधित प्रोजेक्ट की डीपीआर रिपोर्ट प्रदेश सरकार को भेजनी होती है। प्रदेश सरकार को डीपीआर भेजने के बाद सारी औपचारिकताएं पूरी की जाती हैं। ये प्रोजेक्ट्स कंपलीट हो जाते हैं तो लाखों लोगों को इसका फायदा पहुंचेगा। साथ ही बिजली की कम वोल्टेज, ट्रिपिंग के अलावा कंमजेशन की समस्या दूर हो जाएगी। इसका सबसे ज्यादा फायदा ग्रामीण क्षेत्रों में होगा। जहां पर अधिकतर बिजली की समस्याएं रहती है। जहां पर यह प्रोजेक्ट लगने हैं, वहां के आसपास के गांव व रिहायशी क्षेत्रों में यह बिजली सप्लाई की जाएगी। क्योंकि हाईडल प्रोजेक्ट में बनने वाली बिजली को विद्युत बोर्ड खरीदेगा। इसे जहां बिजली की समस्या है, वहीं पर इसको ट्रांसफर किया जाएगा। हालांकि जिला के कई क्षेत्रों में बिजली की समस्या है। इन प्रोजेक्टों के लगने से यह समस्या काफी हद तक दूर हो सकती है। अभी इन प्रोजेक्टों को आरंभ करने में समय लग सकता है।

192.70 मेगावाट बिजली का होगा उत्पादन

हिमाचल प्रदेश में लगने वाले 94 हाईडल प्रोजेक्टों से प्रदेश में 192.70 मेगावाट बिजली उत्पादित की जाएगी। इस बिजली को बिजली बोर्ड खरीदेगा। खरीदने के बाद बिजली बोर्ड जहां पर बिजली की समस्या है। वहां पर बिजली आपूर्ति की जाएगी। विभागीय जानकारी के अनुसार यह प्रोजेक्ट छोटे-बड़े नद-नालों में लगाए जाएंगे। गौर हो कि अभी तक चंबा से दो व कांगड़ा से एक प्रोजेक्ट की डीपीआर प्रदेश सरकार को मिल चुकी है। जबकि एक प्रोजेक्ट की डीपीआर केंसल हो चुकी है। विभागीय जानकारी के अनुसार इन सभी प्रोजेक्टों का कार्य एक साथ ही शुरू होगा। प्रोजेक्टों में सर्वे कार्य चला हुआ है जल्द ही इन प्रोजेक्टों का कार्य जल्द ही संपन्न हो जाएगा।

कैबिनेट में मिली प्रोजेक्ट्स की मंजूरी

प्रदेश कैबिनेट की बैठक में 2016 में 95 हाईडल प्रोजेक्टों की मंजूरी मिली है। इसमें से 94 हाईडल प्रोजेक्टों के लिए एप्लीकेशंस आ गई हैं। इनमें मंडी से 8, शिमला से 3, कुल्लू से 19, लाहौल स्पीति से 3, कांगड़ा से 23, किन्नौर से 12 व चंबा से 27 हाईडल प्रोजेक्ट बनाए जाने हंै। गौर हो कि जिला सिरमौर में पहले से ही 21 प्रोजेक्टों में से तीन कंपलीट हो गए हैं। जबकि एक का निर्माण कार्य चला हुआ है। बाकी प्रोजेक्टों पर कागजी प्रक्रिया चली हुई है। गौर हो प्रदेश की कैबिनेट की बैठक में इन प्रोजेक्टों को मंजूरी मिली थी। जिनमें से तीन की डीपीआर प्रदेश सरकार के पास पहुंच चुकी है। जबकि एक डीपीआर कैसिल हो गई है। बाकी प्रोजेक्टों पर सर्वे का कार्य जारी है। दिसंबर माह तक सभी प्रोजेक्टों की डीपीआर मांगी गई है।

सर्वे रिपोर्ट की जा रही तैयार: केएल ठाकुर

हिम ऊर्जा के निदेशक केएल ठाकुर ने बताया कि प्रदेश में 95 हाइडल प्रोजेक्ट लगने हैं। जिनमें से तीन की अप्लीकेशन आ चुकी है। जबकि एक प्रोजेक्ट की डीपीआर केंसल हो चुकी है। उन्होंने बताया कि दिसंबर 2018 तक सभी प्रोजेक्टों की रिपोर्ट एकत्रित कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि अब 91 प्रोजेक्ट की सर्वे रिपोर्ट तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि इन प्रोजेक्टों के निर्माण से नजदीकी गांव व कस्बों में बिजली की समस्या से निजात मिलेगी। इन प्रोजेक्टों की बिजली विद्युत बोर्ड खरीदेगा।