• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद नहीं मिली एसएमसी को एक्सटेंशन
--Advertisement--

मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद नहीं मिली एसएमसी को एक्सटेंशन

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:05 AM IST

Shimla News - राज्य के सरकारी स्कूलों में स्कूल मैनेजमेंट कमेटी (एसएमसी) के तहत तैनात शिक्षकों का करार शनिवार को समाप्त हो गया...

मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद नहीं मिली एसएमसी को एक्सटेंशन
राज्य के सरकारी स्कूलों में स्कूल मैनेजमेंट कमेटी (एसएमसी) के तहत तैनात शिक्षकों का करार शनिवार को समाप्त हो गया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के आश्वासन के बाद भी इन शिक्षकों के कार्यकाल को नहीं बढ़ाया गया है।

पिछले सप्ताह आयोजित कैबिनेट बैठक में इन शिक्षकों के एक्सटेंशन देने का मामला गया था। लेकिन इस पर फैसला नहीं हो पाया था। अब 2 अप्रैल को होने वाली बैठक में इस पर निर्णय लिया जाएगा। प्रदेश में स्कूल मैनेजमेंट कमेटी (एसएमसी) के तहत 2630 शिक्षक तैनात है।

विंटर क्लोजिंग स्कूलों में तैनात इन शिक्षकों का कार्यकाल दिसंबर में खत्म हो चूका था। जबकि समर क्लोजिंग स्कूलों में 31 मार्च को समाप्त होने जा रहा था। एसएमसी शिक्षक संघ के अध्यक्ष अनिल पितान ने कहा कि शिक्षकों का प्रतिनिधि मंडल अपनी मांग को लेकर शिक्षा सचिव डा. अरूण शर्मा से मिला था। उन्होंने आश्वासन दिया है कि जल्द ही इस संबंध में फैसला ले लिया जाएगा।

कांट्रेक्ट रिन्यू होने के बाद बढ़ेगी 20 फीसदी सैलरी:

शिक्षकों का कांट्रेक्ट रिन्यू होने के बाद इनके वेतन में 20 फीसदी की बढ़ोतरी भी होगी। इसके तहत पीजीटी, टीजीटी को अभी तक 9360 मासिक मानदेय मिलता है। ये बढ़कर 11232 हो जाएगा। इसी तरह सीएंडडी शिक्षकों को 7020 की जगह 8424, जेबीटी शिक्षकों को 5460 की जगह 6500 का मानदेय मिलेगा।

पिछली कैबिनेट में नहीं लिया जा सका था फैसला

पॉलिसी बनाने का भी

दिया है आश्वासन

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने टीचरों को आश्वासन दिया कि उनके लिए पॉलिसी बनाने पर भी सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा। बजट भाषण में मुख्यमंत्री ने इन शिक्षकों का मानदेय 20 फीसदी बढ़ाने की घोषणा की थी। एसएमसी शिक्षक संघ ने मानदेय में बढ़ोतरी करने के लिए राज्य सरकार का आभार व्यक्त कर मुख्यमंत्री को सम्मानित किया। विधानसभा परिसर में इसको लेकर कार्यक्रम आयोजित किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका प्रदेश में जहां पर भी दौरा होता था एसएमसी शिक्षक अपनी मांग लेकर वहां पर पहुंच जाते थे।

X
मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद नहीं मिली एसएमसी को एक्सटेंशन
Astrology

Recommended

Click to listen..