--Advertisement--

अब वन निगम लेगा 30 करोड़ लोन

घाटे से जूझ रहे वन निगम को अपना खर्चा चलाने के लिए बैंक से 30 करोड़ रुपए का ऋण लेने की मंजूरी मिल गई है। शनिवार को वन...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:05 AM IST
घाटे से जूझ रहे वन निगम को अपना खर्चा चलाने के लिए बैंक से 30 करोड़ रुपए का ऋण लेने की मंजूरी मिल गई है। शनिवार को वन निगम की बीओडी की बैठक में निगम को बैंक से लोन लेने की मंजूरी प्रदान की गई है। यह बैठक वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस बैठक में एसीएस वन तरुण कपूर सहित निगम के अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। बैठक में निगम की आय को बढ़ाने बारे भी विस्तार से चर्चा की गई। इसमें निर्णय लिया गया कि निगम कंपनियों की एजेंसी लेकर माल की सप्लाई करेगा। इसके अलावा बैठक में निर्णय लिया गया कि वन निगम लकड़ी के कारोबार के अलावा लोगों को भवन निर्माण के लिए बिल्डिंग सामग्री भी प्रदान करवाएगा। इसमें सभी तरह की निर्माण सामग्री शामिल होगी।



बीओडी ने दी ऋण लेने की मंजूरी, आय बढ़ाने के लिए बिल्डिंग मटीरियल बेचेगा निगम

सालाना टर्नओवर 200 करोड़ रुपए

बढ़ाने का लक्ष्य तय

वन निगम की बैठक में अधिकारियों को वित्तीय घाटे से उबरने के लिए निगम के कारोबार को बढ़ाने के लिए कहा गया। इसके लिए अधिकारियों को 200 करोड़ रुपए के सालाना टर्नओवर का लक्ष्य दिया गया। यह अभी सवा सौ करोड़ रुपए है जिसे अब दो सौ करोड़ रुपए किया जाना है। बिलासपुर की बिरोजा फैक्ट्री में 20 करोड़ का माल अनसोल्ड है। इसे बेचने के लिए भी जरुरी कदम उठाए जाने को कहा गया ताकि माल समय पर बिक सके और निगम की आय बढ़ाई जा सके।

सोलन में तीन ईको साइटें होगी विकसित

वन निगम सोलन में तीन ईको साइटें विकसित करेगा। बीओडी की बैठक में यह निर्णय लिया गया। पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए इन साइटों को विकसित किया जाएगा। यहां पर इन साइटों को डेवलप किया जाएगा और पर्यटकों के लिए कई तरह की मूल भूत सुविधाएं प्रदान करवाई जाएगी ताकि ताकि पर्यटकों को आकर्षित किया जा सके। एसीएस वन तरुण कपूर ने बताया कि निगम की आय को बढ़ाने और निगम का खर्चा चलाने के लिए बीओडी ने निगम को बैंक से 30 करोड़ रुपए का ऋण लेने की मंजूरी प्रदान की है।