Hindi News »Himachal »Shimla» कोटी रेंज पेड़ कटान में वन अधिकारियों से पूछताछ, गिरफ्तारी की भी आशंका

कोटी रेंज पेड़ कटान में वन अधिकारियों से पूछताछ, गिरफ्तारी की भी आशंका

कोटी रेंज में बड़े पैमाने पर हुए अवैध पेड़ कटान मामले में पुलिस ने वन अधिकारियों से लंबी पूछताछ की। ढली पुलिस थाना...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:10 AM IST

कोटी रेंज में बड़े पैमाने पर हुए अवैध पेड़ कटान मामले में पुलिस ने वन अधिकारियों से लंबी पूछताछ की। ढली पुलिस थाना में डीएफओ, एसीएफ समेत अन्य चार कर्मचारियों दो से तीन घंटे पूछताछ की गई। अवैध पेड़ कटान मामले में वन रक्षक से लेकर उच्च अधिकारी तक की भूमिका संदेह के घेरे में है। वन मंत्री खुद अधिकारियों की भूमिका पर सवाल खड़े कर चुके हैं। इसी को देखते हुए पुलिस ने जांच वन विभाग की तरफ मोड़ दी और बुधवार को गार्ड से लेकर सीएफ तक पूछताछ के लिए ढली थाना तलब किए। हालांकि, सीएफ थाने नहीं पहुंचे। विभाग की ओर से बताया गया कि वे हैदराबाद गए हैं, लेकिन डीएफओ अमित शर्मा, एसीएफ ओपी चंदेल, आरओ अनु ठाकुर, बीओ विक्की चौहान, गार्ड पवन और पूर्व गार्ड हरि सिंह सवेरे करीब सवा दस बजे थाना पहुंच गई। पहले डीएफओ, एसीएफ से साढ़े दस बजे पूछताछ शुरू की गई। करीब दो घंटे तक चली पूछताछ में पुलिस ने उनसे कई सवाल किए। मामले में संलिप्तता को लेकर अधिकारियों से सवाल पूछे गए। हालांकि, अधिकारियों ने मामले में संलिप्तता से इनकार किया है, मगर यह जरूर मान रहे हैं कि लापरवाही हुई है। इसके लिए वे निचले स्टाफ को दोषी ठहराने से भी गुरेज नहीं कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में मामले में पुलिस बड़ी कार्रवाई कर सकती है। मामले में अधिकारियों, कर्मचारियों की गिरफ्तारी से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि पुलिस डीएफओ और एसीएफ से जवाबों से संतुष्ट नहीं है, लिहाजा, उनसे फिर पूछताछ की जाएगी। 12 फरवरी को दोनों को पूछताछ के लिए फिर बुलाया गया है।

शहर से बाहर थे सीएफ, नहीं हुई पूछताछ, आज थाने में तलब

पूछताछ के बाद ढली थाना से बाहर निकलते डीएफओ, एसीएफ।

कटान करने वाले भूप सिंह को भी बुलाया था पुलिस ने पेड़ों का अंधाधुंध कटान करने वाले भूप सिंह को भी थाने बुलाया था। इससे भी पूछताछ की जा रही है। भूप सिंह को पुलिस ने 13 जनवरी को गिरफ्तार किया था, मगर कोर्ट से उसे बेल मिल गई थी। हालांकि, पहले पूछताछ में आरोपी अवैध कटान की बात कबूल कर चुका है।

खनन विभाग के अधिकारी भी जांच के दायरे में इस मामले में खनन विभाग के अधिकारी भी जांच के दायरे में है। आने वाले दिनों में पुलिस विभाग के अधिकारियों से भी पूछताछ करेगी। पेड़ काटने वाले भूप सिंह का दावा है कि उसे खनन विभाग ने क्रशर के लिए अनुमति दी थी। सवाल यह है कि विभाग ने फॉरेस्ट की एनओसी के बगैर एनओसी कैसे दे दी। मौके पर इंस्पेक्शन भी नहीं की। वन विभाग के अधिकारियों से पूछताछ के बाद पुलिस खनन विभाग की तरफ जांच मोड़ेगी।

अभी जारी रहेगी इंक्वायरी

डीएसपी सिटी दिनेश शर्मा ने बताया कि डीएफओ, एसीएफ और अन्य कर्मचारियों से पूछताछ कर ली गई है। सीएफ को भी पूछताछ के लिए तलब किया गया था, मगर वे शहर से बाहर थे। उसने वीरवार को पूछताछ होगी। अभी कुझ कहना जल्दबाजी होगी। पूछताछ अभी जारी रहेगी। आगामी दिनों में उसने और पूछताछ की जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×