• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • रिजल्ट घोषित होने के बाद भी नियुक्ति के इंतजार में अभ्यर्थी
--Advertisement--

रिजल्ट घोषित होने के बाद भी नियुक्ति के इंतजार में अभ्यर्थी

वुमन एंड चाइल्ड विभाग में सुपरवाइजर पद पोस्ट कोड 568 पर अभी तक भी नियुक्ति नहीं हुई हैं। स्टाफ सेलेक्शन कमीशन...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:10 AM IST
रिजल्ट घोषित होने के बाद भी नियुक्ति के इंतजार में अभ्यर्थी
वुमन एंड चाइल्ड विभाग में सुपरवाइजर पद पोस्ट कोड 568 पर अभी तक भी नियुक्ति नहीं हुई हैं। स्टाफ सेलेक्शन कमीशन हमीरपुर की ओर से करवाई गई लिखित परीक्षा के परिणाम और दस्तावेज जांचने के बावजूद भी अभ्यर्थियों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। ऐसे में सवाल उठ रहे है कि कमीशन देने के बावजूद भी उम्मीदवारों को क्यों नियुक्ति नहीं दी जा रही है। जहां कमीशन की आेर से नियुक्ति न देने के लिए सरकार के आदेशों का इंतजार कर रहा है, वहीं सरकार फिलहाल इस पर कोई एक्शन नहीं ले रही है। सरकार की ओर से पहले ही साफ कर दिया गया है कि जो भर्तियां विभागों की अोर से करवाई गई है, उसे रद्द किया जाएगा। जबकि वुमन एंड चाइल्ड विभाग में सुपरवाइजर पद पर जो 37 पदों को भरने के लिए भर्ती हुई है, वह कमीशन के तहत हुई है। ऐसे में इसके परिणाम निकालने में देरी नहीं की जा सकती है।

सरकार करे इस पर एक्शन

अभ्यर्थियों ने अब सरकार से गुहार लगाई है कि इस पर कोई एक्शन हो। ताकि समय पर रिजल्ट मिल सके। फार्म तो बार बार आयोग की ओर से निकाले जाते हैं, जबकि भर्ती पूरी नहीं की जाती है। ऐसे में अभ्यर्थियों को मनोबल गिर जाता है। आयोग को जल्द से जल्द से भर्ती परिणाम और सरकार को नियुक्ति दे देनी चाहिए।

स्टाफ सिलेक्शन कमीशन हमीरपुर ने करवाई थी परीक्षा

18 अक्टूबर 2016 को निकाला था विज्ञापन







जोगेंद्र शर्मा, शिमला

वुमन एंड चाइल्ड विभाग में सुपरवाइजर पद पोस्ट कोड 568 पर अभी तक भी नियुक्ति नहीं हुई हैं। स्टाफ सेलेक्शन कमीशन हमीरपुर की ओर से करवाई गई लिखित परीक्षा के परिणाम और दस्तावेज जांचने के बावजूद भी अभ्यर्थियों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। ऐसे में सवाल उठ रहे है कि कमीशन देने के बावजूद भी उम्मीदवारों को क्यों नियुक्ति नहीं दी जा रही है। जहां कमीशन की आेर से नियुक्ति न देने के लिए सरकार के आदेशों का इंतजार कर रहा है, वहीं सरकार फिलहाल इस पर कोई एक्शन नहीं ले रही है। सरकार की ओर से पहले ही साफ कर दिया गया है कि जो भर्तियां विभागों की अोर से करवाई गई है, उसे रद्द किया जाएगा। जबकि वुमन एंड चाइल्ड विभाग में सुपरवाइजर पद पर जो 37 पदों को भरने के लिए भर्ती हुई है, वह कमीशन के तहत हुई है। ऐसे में इसके परिणाम निकालने में देरी नहीं की जा सकती है।

सरकार करे इस पर एक्शन

अभ्यर्थियों ने अब सरकार से गुहार लगाई है कि इस पर कोई एक्शन हो। ताकि समय पर रिजल्ट मिल सके। फार्म तो बार बार आयोग की ओर से निकाले जाते हैं, जबकि भर्ती पूरी नहीं की जाती है। ऐसे में अभ्यर्थियों को मनोबल गिर जाता है। आयोग को जल्द से जल्द से भर्ती परिणाम और सरकार को नियुक्ति दे देनी चाहिए।


भले ही कमीशन की ओर से अलग अलग पदों पर भर्ती करवाई जाती है, लेकिन अंतिम मंजूरी और नियुक्ति सरकार की अोर से ही दी जाती है। वह चाहे ट्रेनिंग की हो या फिर ज्वाइनिंग की। बीते वर्ष 2017 में कांग्रेस की सरकार सत्ता में थी। अब सत्ता परिवर्तन के साथ भाजपा की नवनिर्वाचित सरकार आई है। ऐसे में जो भर्तियां हुई है, उस पर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। भले ही ये कमीशन के जरिए हुई हो। अब अभ्यर्थियों को डर सता रहा है कि कहीं, नई सरकार बीते वर्ष हुई भर्तियों के लिए कोई नए नियम न निकालें।


हजारों अभ्यर्थी हर बार कमीशन की ओर से निकाले गए विज्ञापन के अनुसार फीस जमा करवाकर फार्म भरते हैं। इसके लिए कमीशन की ओर से लंबा प्रोसेस चलाया जाता है। पूरी मेहनत के साथ उम्मीदवार पेपर देने जाता है। जो उम्मीदवार सिलेक्ट हो जाता है, उसे अब नियुक्ति नहीं दी जा रही है। इसके लिए भी लंबा इंतजार करवाया जा रहा है। वहीं, हमीरपुर सिलेक्शन कमीशन के चेयरमैन डॉ. मोहन झारटा का कहना है कि सरकार जैसे ही मंजूरी देगी, वैसे ही नियुक्ति दी जाएगी। कमीशन की ओर से सभी तरह का प्रोसेस पूरा कर दिया गया है।

X
रिजल्ट घोषित होने के बाद भी नियुक्ति के इंतजार में अभ्यर्थी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..