Hindi News »Himachal »Shimla» पढ़ाई के साथ कराई जाएगी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी

पढ़ाई के साथ कराई जाएगी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी

एचपी यूनिवर्सिटी में अब छात्रों को ऐसे कोर्स पढ़ने को मिलेंगे, जिसमें वह भविष्य में होने वाले प्रतियोगी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:15 AM IST

एचपी यूनिवर्सिटी में अब छात्रों को ऐसे कोर्स पढ़ने को मिलेंगे, जिसमें वह भविष्य में होने वाले प्रतियोगी परीक्षाअोें के लिए खुद को तैयार कर पाएंगे। यह कदम विवि ने विशेषकर उन छात्रों के लिए उठाया है जो पढ़ाई के साथ साथ कम्पेटिटिव एग्जाम की भी तैयारियां करते हैं। प्रतियोगी परीक्षाओं बैंकिंग, सेना, वैज्ञानिक, शैक्षणिक क्षेत्र शोध कार्य, मीडिया, स्वयं सेवी संस्था, राजनीति, उद्यमिता, कौशल विकास, कॉर्पोरेट जगत जैसे महत्वपूर्ण परीक्षाअों के लिए विवि प्रशासन की अोर से कोर्स शुरू करने की योजना तैयार की है। इस नए सत्र से इसे शुरू किया जाएगा। ईसी में पहले ही इसे मंजूरी दे दी गई है। पूर्व वीसी प्रो. एडीएन वाजपेयी की ओर से यह योजना तैयार की गई थी। ऐसे में अब नए वीसी की नियुक्ति के बाद इस पर काम शुरू कर दिया जाएगा। एचपीयू के कार्यकारी वीसी प्रो. राजेंद्र सिंह चौहान का कहना है कि इस पर काम चला हुआ है, जल्द शुरू होगा।

एचपीयू में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए शुरू होंगे प्रतियोगी कोर्स, छात्र को होगा भविष्य में फायदा

इसके लिए गठित की गई कमेटी जल्द शुरू करेगा काम

पूर्व वीसी के कार्यकाल में हुई थी घोषणा, अब नए सत्र मेें शुरू होने की उम्मीद

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में फायदा

कमेटी का किया गया है गठन इसके लिए एक उच्च स्तरीय समिति गठित की गई है। जिसमें पूर्व अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. संजीव महाजन को इसका अध्यक्ष बनाया गया है। इसके अलावा सात सदस्य बनाए गए हैं, जिनमें प्रो. जेएस धीमान संयोजक, मुख्य छात्रपाल, अतिरिक्त मुख्य छात्रपाल,प्रो. एसएन घोष, प्रो. प्रमोद शर्मा, प्रो. देवेंद्र शर्मा और एससीए अध्यक्ष को इसमें शामिल किया गया है। हालांकि, इस कमेटी की अभी तक बैठक नहीं हुई है। जबकि बताया जा रहा है कि नए सत्र शुरू होने से पहले बैठक होगी और इसकी पूरी रूपरेखा तैयार की जाएगी।

ऐसे मिलेगा फायदासबसे बड़ा फायदा उन छात्रों को होगा, जो डिग्री करने के बाद सीधा प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में जुट जाते हैं। ऐसे में वह पहले ही अपने विषयों में से उन विषयों को भी पढ़ लेंगे, जिसके लिए उन्होंने तैयारियां करनी है। इससे उनके लिए प्रतियोगी परीक्षाएं देने में आसानी होगी। विवि प्रशासन की इस पहल का जहां छात्र संगठन समर्थन कर रहे हैं। वहीं, आम छात्र भी इसे सराह रहे हैं।

विवि में अभी होती है कोचिंग एचपीयू के पूर्व परीक्षा केंद्र में कोचिंग करवाई जाती है। इसमें पीएमटी से लेकर आईएएस तक की कोचिंग दी जाती है। इसके साथ ही बैंकिंग एचएएस और नेट, सेट की तैयारी भी करवाई जाती है। इन प्रशिक्षण केंद्रों में प्रत्येक कोर्स की 15 से 20 सीटें निर्धारित की गई हैं। प्रत्येक सीट को वर्गानुसार विभाजित किया गया है। यूजीसी नेट और एमबीए कोर्स के लिए दो माह के कोर्स की अवधि होती है। जिसमें सामान्य वर्ग के लिए चार हजार रुपए फीस रखी गई है। अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के लिए यह कोर्स निशुल्क है। अन्य परीक्षाओं के लिए पांच हजार रुपए फीस रखी गई है। साल में एक बार ही छात्रों के लिए कोचिंग सेंटर लगाए जाते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×