• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • धर्मशाला बनेगा स्मार्ट सिटी, शिमला के पास मौका
विज्ञापन

धर्मशाला बनेगा स्मार्ट सिटी, शिमला के पास मौका

Dainik Bhaskar

May 25, 2016, 03:00 AM IST

Shimla News - हिमाचलके टूरिस्ट डेस्टिनेशन धर्मशाला को अब स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित किया जाएगा। मंगलवार को जारी 13 स्मार्ट...

धर्मशाला बनेगा स्मार्ट सिटी, शिमला के पास मौका
  • comment
हिमाचलके टूरिस्ट डेस्टिनेशन धर्मशाला को अब स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित किया जाएगा। मंगलवार को जारी 13 स्मार्ट सिटी की लिस्ट में धर्मशाला को तीसरा स्थान मिला है। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 23 शहरों के बीच कराए गए फास्ट ट्रैक कंपटीशन के जरिए इन्हें चुना है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडु ने यह घोषणा की। शिमला को भी स्मार्ट सिटी की लिस्ट में शामिल होने के लिए एक मौका मिला है। उसे छह राज्यों की राजधािनयों पटना, रायपुर, ईटानगर, अमरावती, त्रिवेंद्रम और त्रिपुरा से मुकाबला करना होगा। इनमें से जिस राजधानी का स्मार्ट सिटी प्रोेजेक्ट सबसे प्रभावी होगा, उसे शामिल कर लिया जाएगा। जिन 13 शहरों का चयन किया गया है उनमें लखनऊ, फरीदाबाद, चंडीगढ़, रायपुर, न्यूटाउन कोलकाता, पणजी, रांची, भागलपुर, अगरतला, पोर्ट ब्लेयर, इंफाल और वारंगल भी शामिल हैं। गौरतलब है कि योजना के पहले चरण में यूपी समेत 23 प्रदेशों के एक भी शहर को जगह नहीं मिली मिली थी। राज्य सरकारों की आपत्ति के बाद केंद्र ने वंचित रह गए सभी प्रदेशों के एक-एक शहर को फास्ट ट्रैक में डालकर के लिए प्रस्ताव मांगा था।

धर्मशाला को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए विभाग ने 650 करोड़ का पीपीपी प्रोजेक्ट को भी रिपोर्ट मे शामिल किया है। इसमें पार्किंग, शॉपिंग माल, कल्चर सेंटर और एम्यूजमेंट पार्क शामिल है जिसे पीपीपी मोड पर बनाए जाएंगे। इसके अलावा शहरी विकास विभाग ने प्रोजेक्ट में जहां धर्मशाला बुद्धिस्ट, सर्किट, दलाईलामा की सीट के साथ धर्मशाला के अंतरराष्ट्रीय स्पोट‌्र्स डेस्टिनेशन को शामिल किया है। वहीं शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने कहा कि धर्मशाला का फास्ट ट्रैक में शामिल किया जाना प्रदेश के लिए गौरव की बात है। शिमला को भी स्मार्ट सिटी में शामिल करने के लिए केंद्र मान गया है। सरकार का पूरा प्रयास रहेगा की प्रतियोगिता में शिमला जीत जाए।

18 मुख्य बिंदुओं पर होगा फोकस

धर्मशालाको स्मार्ट बनाने के लिए शहरी विकास विभाग ने जो प्लान तैयार किया है वह 18 मुख्य बिंदुओं पर फोकस होगा। इसमें सोलर सिस्टम से अधिक से अधिक बिजली की उपयोगिता को पूरा किया जाएगा, पानी की रिसाइक्लिंग और बाढ़ के पानी की रिसाइक्लिंग, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, सूचना प्रौद्योगिकी का अधिक इस्तेमाल, लोगों को पैदल चलने की लिए रास्तों का निर्माण, यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाना, स्मार्ट पार्किंग का निर्माण, बिजली की कम खपत वाली स्ट्रीट लाइटें लगाना, ई-टॉयलट, वेस्ट बायो गैस प्लांट लगाना, अंडर ग्राउंड डस्टबिन का निर्माण करना कई कार्य शामिल है।

धर्मशाला को स्मार्ट बनाने के लिए सरकार ने 2100 करोड़ का प्रस्ताव तैयार करके केंद्र सरकार को मंजूरी के लिए भेजा था। इस पर केंद्र सरकार ने अपनी मुहर लगा दी है। यह पिछली भेजी गई डीपीआर से 700 करोड़ रुपए अधिक है। केंद्र सरकार से प्रोजेक्ट के लिए जारी होने वाले बजट के लिए सरकार को इंतजार करना पड़ेगा।अतिरिक्त मुख्य सचिव मनीषा नंदा ने बताया की इस बार भेजे गए प्रस्ताव में एरिया बढ़ा कर भेजा था और विस्तृत रिपोर्ट तैयार की गई थी। उन्होंने बताया कि शिमला को स्मार्ट सिटी में शामिल किए जाने का प्रस्ताव भी मंजूरी के लिए भेजा था। इसे मंजूरी प्रदान करके प्रतियोगिता में भाग लेने को कहा है।

मैं शहरी विकास मंत्री के तौर पर सरकार की उपलब्धियों से संतुष्ट हूं। इस बार पिछली लोकसभा के मुकाबले ज्यादा काम हुआ। लोकसभा में 93 बिल पास हुए और राज्य सभा में भी ज्यादा काम हुआ। इस सरकार में रियल ट्रांसफॉर्मेशन हुआ है, ना कोई स्कैम, ना कोई स्कैंडल। -वेंकैयानायडू, केंद्रीयमंत्री

धर्मशाला बनेगा स्मार्ट सिटी, शिमला के पास मौका
  • comment
X
धर्मशाला बनेगा स्मार्ट सिटी, शिमला के पास मौका
धर्मशाला बनेगा स्मार्ट सिटी, शिमला के पास मौका
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें