• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla News deluxe buses of private bus operators will run from shimla to all the tourist places of the state the fare will be only 200 more

शिमला से प्रदेश के सभी पर्यटक स्थलों के लिए चलेंगी प्राइवेट बस ऑपरेटरों की डीलक्स बसें, सिर्फ 200~ ज्यादा होगा किराया

Shimla News - शहर में अब लाेगाें काे इलेक्ट्राेनिक बसाें के बाद लग्जरी बसाें में भी सफर करने का माैका मिलेगा। परिवहन विभाग...

Feb 14, 2020, 07:30 AM IST

शहर में अब लाेगाें काे इलेक्ट्राेनिक बसाें के बाद लग्जरी बसाें में भी सफर करने का माैका मिलेगा। परिवहन विभाग जल्द ही निजी बस अाॅपरेटर्स से डीलक्स बसाें काे शिमला शहर अाैर पर्यटन स्थलाें के लिए इन लग्जरी बसाें काे चलाने के लिए अावेदन मांगेंगा। इसके बाद शिमला शहर के रूट फाइनल कर बसाें काे चला दिया जाएगा।

शिमला शहर के अलावा प्रदेश के रूटाें पर भी इन बसाें काे चलाया जाएगा। जिनमें शिमला-धर्मशाला, शिमला-मनाली, मनाली-मंडी, शिमला-डलहौजी, शिमला-चंबा जैसे रूट तय किए गए हैं। इन बसों में किराया साधारण बसों की अपेक्षा 150 से 200 रुपए अधिक होगा। ये बसें 35 से 37 सीटर होंगी। परिवहन विभाग का मानना है कि अगर कोई व्यक्ति अपनी गाड़ी में शिमला से धर्मशाला जाता है तो कम से कम 1500 से 1700 रुपए तक का डीजल लग जाता है। इन बसों में सफर करने से जहां कम किराया लगेगा, वहीं सफर भी आरामदायक होगा। लोगों की मांग को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। इन बसों के चलाए जाने से पर्यटकाें को फायदा होगा। परिवहन निदेशक जेएम पठानिया का कहना है कि प्रदेश भर में डीलक्स बसें चलाए जाने का प्रस्ताव है। इसके रूट फाइनल किए जा रहे हैं। सरकार से जैसे ही मंजूरी मिलेगी, निजी बस ऑपरेटरों से आवेदन मांग लिए जाएंगे। जिसके बाद रूट फाइनल कर ऑपरेटरों को बसें चलाने के लिए कहा जाएगा।

इलेक्ट्रिक बसें भी चल रही है शहर में : शहर में अभी 50 इलेक्ट्रिक बसें भी चल रही हैं। एचअारटीसी की इन बसों को शिमला की सड़कों के अनुसार तैयार किया गया है। इस बस एक सबसे बड़ी खासियत यह भी है कि यह बस छोटी है। बस शहर के तीखे मोड़ों पर आसानी से मुड़ रही है। जिससे आगे पीछे चलने वाले वाहनों को भी परेशानी नहीं हाे रही है। इन के चलने से ज्यादा जाम नहीं लग रहा है।

एचअारटीसी की वाॅल्वाे बसें कमाई में अागे: एचअारटीसी की वाॅल्वाे बसें कमाई में अभी तक सबसे अागे हैं। इन बसाें की एक दिन की कमाई 75 लाख से अधिक हैं। वर्तमान समय में दिल्ली से धर्मशाला, शिमला, कुल्लू-मनाली के लिए लगभग 25 वॉल्वो बसें सैलानियों को सुविधाएं प्रदान कर रही हैं। इस समय परिवहन निगम के बेड़े खुद की 12 वॉल्वो बसें हैं। इसके अलावा 13 बसें निगम ने हायर की हुई हैं। वॉल्वो बसों से निगम की अच्छी खासी कमाई होती है।


बेराेजगाराें काे राेजगार देने की पहल: प्रदेश सहित शिमला शहर में बेराेजगाराें काे राेजगार देने के लिए इस तरह की पहल की गई है। हालांकि, इससे पहले भी वेट लीजिंग पर एचअारटीसी की अाेर बसें चलाई गई थी। जिसमें निगम काे नुकसान उठाना पड़ा था। एचआरटीसी में 92 बसें वेट लीजिंग पर चल रही थी। इसमें 40 वोल्वो बसें परिवहन निगम की अाैर 52 बसें निजी बस ऑपरेटरों की थी।

शिमला के साथ लगते पर्यटन स्थलाें के लिए चलंेगी: ये डीलक्स बसें शिमला के साथ लगते पर्यटन स्थल कुफरी, नारकंडा, नालदेहरा, ठियाेग अाैर तत्तापानी जैसे क्षेत्राें के लिए चलेंगी। इन बसाें का किराया बसें अाने के बाद तय हाेगा। हालांकि, साधारण बसाें की अपेक्षा डीलक्स बसाें में सफर करना थाेड़ा महंगा हाेगा, लेकिन इसमें सभी तरह की वह सुविधाएं मिलेगी जाे एचअारटीसी की डीलक्स बसाें में मिलती है। बताया जा रहा है कि इन बसाें में पानी की बाेतल भी फ्री में मिलेगी। इसके अलावा यात्रियाें काे अखबार पढ़ने की सुविधा दी जाएगी।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना