रामपुर में वन रक्षकों ने संभाला आवारा पशुओं के गले में रेडियम बैल्ट लगाने का जिम्मा

Shimla News - भास्कर न्यूज | रामपुर बुशहर रामपुर आसपास के क्षेत्रों में आवारा पशुओं के कारण हो रहे हादसों को रोकने के लिए वन...

Jan 16, 2020, 07:25 AM IST
Shimla News - forest guards in rampur handled the task of putting radium belt on the neck of stray animals
भास्कर न्यूज | रामपुर बुशहर

रामपुर आसपास के क्षेत्रों में आवारा पशुओं के कारण हो रहे हादसों को रोकने के लिए वन रक्षकों ने एसएल ग्रुप गठित कर आवारा पशुओं के गले में रेडियम युक्त बैल्ट लगाने का निर्णय लिया है। जिसके तहत अभी तक सौ के करीब पशुओं के गले में यह बैल्ट बांधी भी जा चुकी है। पहले चरण का लक्ष्य खनेरी से दत्तनगर कमेटी द्वारा रखा गया है।

गौरतलब है कि एनएच पांच पर आए दिनों रात के समय आवारा घूमने वाले पशु दुर्घटनाओं कई छोटी बड़ी दुर्घटनाएं हो चुकी है। जिसमें कई वाहन चालकों और आवारा पशुओं की जान भी जा चुकी है। जिसको देखते हुए वन विभाग रामपुर में तैनात वन रक्षकों ने एसएल ग्रुप का गठन किया और ऐसे आवारा पशुओं के गले में रेडियम बैल्ट लगाने का निर्णय लिया। इस काम के लिए वन रक्षकों ने आपस में पैसे एकत्र किए और पहले चरण में खनेरी से दत्तनगर तक अपनी इस मुहिम को अंजान देना शुरू कर दिया है। टीम में वन रक्षक ललित भारती, तारा चंद, उदय सिंह, जय प्रकाश, विनोज नेगी, राज कपूर, भोला सिंह, संजीव, विपिन कुमार सहित नोगली के व्यवसायी सचिन शामिल है। उन्होंने कहा कि रात के समय में अक्सर वाहन चालकों को सड़क पर घूमने वाले जानवर नजर नहीं आते और वे दुर्घटना का कारण बन रहे हैं। जिससे अभी तक दर्जनों हादसे हो चुके हैं और कुछ वाहन चालकों तो अपनी जान भी गंवा चुके है और दर्जनों पशु भी घायल हो चुके है और ऐसे हादसों से मर भी चुके हैं। उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने दोनों के बारे आपस में बैठकर मंथन किया और पशुओं के गले में रेडियम युक्त बैल्ट लगाने का निर्णय लिया है। जिसके बाद वे अभी सौ करीब पशुओं के गले में यह बैल्ट लगा चुके हैं। उन्होंने वाहन चालकों से भी अपील की कि वे भी रात समय वाहन चलाते समय सावधानी बरतें, ताकि इस तरह के हादसे कम हो सके।

आवारा पशु के गले में रेडियम बैल्ट लगाते एसएल ग्रुप के सदस्य।

375 लोगों की स्वास्थ्य जांचा, मुफ्त दवाइयां भी दी

करसोग| प्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थल तत्तापानी में आयोजित जिला स्तरीय मकर सक्रांति मेले में इस बार कई तरह के आयोजनों की धूम रही। वहीं इन आयोजनों के शोरोगुल से दूर एक समिति हमेशा की तरह चुपचाप समाज के गरीब लोगों की निशुल्क सेवा में जुटी थी। डॉ हेडगेवार स्मारक समिति मकर सक्रांति के पवित्र पर्व पर पिछले चार सालों से गरीब रोगियों की सेवा कर रही है। इस बार भी तत्तापानी में आयोजित जिला स्तरीय मकर सक्रांति उत्सव पर समिति ने गरीब लोगों की सेवा के लिए चिकित्सा शिविर आयोजित किया। जिसमें विशेषज्ञों ने 375 लोगों की निशुल्क स्वास्थ्य जांच की। यही नहीं लोगों के टेस्ट करने के साथ रोगियों को मुफ्त दवाइयां भी दी गई। समिति शिमला के अध्यक्ष बोधराज शर्मा का कहना है कि डॉ हेडगेवार स्मारक समिति शिमला मकर सक्रांति के पुण्य अवसर पर पिछले चार सालों से निरंतर निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन करती आ रही हैं।

Shimla News - forest guards in rampur handled the task of putting radium belt on the neck of stray animals
X
Shimla News - forest guards in rampur handled the task of putting radium belt on the neck of stray animals
Shimla News - forest guards in rampur handled the task of putting radium belt on the neck of stray animals
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना