केंद्र की फटकार के बाद हेल्थ वेलनेस पॉलिसी बदलेगी सरकार

Shimla News - प्रदेश में हैल्थ वेलनेस सेंटर खाेलने के लिए राज्य सरकार नए सिरे से पाॅलिसी बनाने जा रही है। केंद्र सरकार की फटकार...

Oct 13, 2019, 07:21 AM IST
प्रदेश में हैल्थ वेलनेस सेंटर खाेलने के लिए राज्य सरकार नए सिरे से पाॅलिसी बनाने जा रही है। केंद्र सरकार की फटकार अाैर बजट में कटाैती के बाद स्वास्थ्य विभाग ने निर्णय लिया है। हैल्थ वेलनेस सेंटर खाेलने के लिए केंद्र सरकार ने नियम तय किए हैं। इसके तहत जिन उप स्वास्थ्य केंद्रों काे हैल्थ वैलनेस सेंटर में तब्दील किया जाएगा वहां पर सुविधाओं काे बढ़ाना हाेगा। हर हेल्थ वैलनेस सेंटर में 60 तरह के टेस्ट के लिए लेबोरेटरी अाैर लैब टेक्नीशियन हाेना अनिवार्य किया गया है। राज्य सरकार का तर्क है कि प्रदेश में भौगोलिक परिस्थिति पूरी तरह भिन्न है। यहां पर अाेपीडी काफी कम हैं। सीमित संसाधनों काे देखते हुए यह संभव नहीं है। इसलिए अब राज्य सरकार इसमें संशोधन करने जा रही है। सूत्रों के मुताबिक अगले महीने हाेने वाली कैबिनेट की बैठक में इसके प्रारूप काे रखा जाएगा।

खराब प्रदर्शन करने वाले 14 राज्यों में शामिल है हिमाचल

स्वास्थ्य के क्षेत्र में खराब प्रदर्शन करने वाले 14 राज्यों में हिमाचल काे शामिल किया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय इन राज्यों को मिलने वाली सालाना आर्थिक मदद में कटौती करने जा रहा है। नेशनल हेल्थ मिशन के बजट में 20 फीसदी की कटाैती हाे सकती है। यानि 9.56 कराेड़ के बजट पर कट लग सकता है। नीति आयोग की रिपोर्ट में करीब 14 राज्यों का प्रदर्शन सबसे खराब मिला है। मंत्रालय ने कहा है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत राज्यों को स्वास्थ्य सेवाओं के लिए आर्थिक मदद सालाना की जाती है। बावजूद इसके स्वास्थ्य सेवाओं में बदलाव मंद गति से देखने को मिल रहा है।

पॉलिसी से क्या मिलनी थी सुविधा

हेल्थ वेलनेस सेंटर में मैटरनल हेल्थ और डिलीवरी की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, किशोर स्वास्थ्य सुविधा, संक्रामक, गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा, आंख, नाक, कान व गले से संबंधित बीमारियों का इलाज किया जाना है। गंभीर बीमारियों का लक्षण पता चलने के बाद मरीज को बड़े अस्पताल में रेफर कर दिया जाएगा। हेल्थ वैलनेस सेंटर में ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और कैंसर जैसी बीमारियों का भी चेक-अप कराया जा सकेगा।

354 हेल्थ सेंटर काे वेलनेस सेंटर में बदलने की है याेजना

केंद्र सरकार ने बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए हैल्थ वेलनेस सेंटर बनाने के अादेश सभी राज्यों काे दिए थे। राज्य सरकार ने प्रदेश में पहले चरण में 354 हेल्थ सब सेंटर (स्वास्थ्य उप केंद्र) को हेल्थ वेलनेस सेंटर (एचडब्ल्यूसी) में तबदील करने का निर्णय लिया है। 60 से ज्यादा हेल्थ वैलनेस सेंटर बनाए जा चूके हैं।


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना