Hindi News »Himachal »Shimla» हर रोज गुजरती हैं आठ ट्रेनें, क्राॅसिंग में ओवरब्रिज हो तो नहीं लगेगा जाम

हर रोज गुजरती हैं आठ ट्रेनें, क्राॅसिंग में ओवरब्रिज हो तो नहीं लगेगा जाम

कोटलाकलां और मलाहत रेलवे क्रॉसिंग पर ओवरब्रिज के निर्माण की दरकार है। दोनों क्रॉसिंग पर अभी तक ओवरब्रिज नहीं है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 17, 2018, 02:00 AM IST

हर रोज गुजरती हैं आठ ट्रेनें, क्राॅसिंग में ओवरब्रिज हो तो नहीं लगेगा जाम
कोटलाकलां और मलाहत रेलवे क्रॉसिंग पर ओवरब्रिज के निर्माण की दरकार है। दोनों क्रॉसिंग पर अभी तक ओवरब्रिज नहीं है। जब यहां से रेलगाड़ियां गुजरती हैं तो फाटक बंद होने से जाम की स्थिति पैदा हो जाती है। कोटलाकलां की रेलवे क्रॉसिंग ऊना-भोटा सड़क पर पड़ती है, जो स्टेट हाईवे की कैटागिरी में आता है। इस हाईवे से प्रतिदिन सैंकड़ों वाहनों की आवाजाही होती है। इसी रास्ते से अमृतसर, जालंधर, लुधियाना और होशियारपुर से आने वाले पर्यटकों का मनाली, कुल्लू व मनीकर्ण के लिए आना-जाना होता है। लेकिन रेलवे विभाग दोनों क्रॉसिंग पर ओवरब्रिज बनाने के लिए तैयार नहीं कर सका है। कोटलाकलां रेलवे क्रॉसिंग पर फाटक बंद होने से जाम लगता है। सड़क के दोनों किनारों पर वाहनों की कतारें लग जाती हैं। इस दौरान कोई एंबुलेंस आ जाए तो उसे भी क्रॉसिंग पर रेलगाड़ी के निकलने तक रूकना पड़ता है। दूसरी तरफ मलाहत क्रॉसिंग पर भी वाहनों की आवाजाही रहती है। क्याेंकि पंजाब के श्रद्धालुओं की धार्मिक स्थल पीरनिगाह और बाबा गरीबनाथ अंदरौली कोलका के लिए आना लगा रहता है। इस रोड को एचएच घोषित किया गया है। इसी रास्ते अब पीजीआई सेटेलाइट सेंटर का निर्माण होना है। तब वाहनों की संख्या में और बढ़ोतरी होगी। ऐसे में दोनों क्रॉसिंग पर ओवरब्रिज निर्माण की जरूरत महसूस होने लगी है।

अंब-अंदौरा, अंबाला और दिल्ली के लिए अप/डाउन करती हैं। सुबह साढ़े 6 बजे अंबाला के लिए डीईएमयू गाड़ी निकलती है। इसके बाद सुबह 7.55 बजे पर हिमाचल एक्सप्रेस अंब-अंदौरा के लिए निकलती है। यही रेलगाड़ी वहां से वापिस सुबह 10.10 बजे पैसेंजर गाड़ी के रूप में नंगल डैम रेलवे स्टेशन के लिए जाती है। दोपहर 12 बजे एमईएमयू गाड़ी अंब-अंदाैरा के लिए निकलती है। यह रेलगाड़ी वहां से वापिस अंबाला के लिए कोटलाकलां क्रॉसिंग पर दोपहर 1:25 बजे निकलती है। नंगल डैम रेलवे स्टेशन से हिमाचल एक्सप्रेस इस क्रॉसिंग से शाम को साढ़े 6 बजे अंब-अंदाैरा के लिए निकलती है। इसी तरह शाम को 7 बजे अंबाला से डीईएमयू गाड़ी अंब-अंदौरा के लिए क्रॉस होती है। शाम को 8:45 बजे अंब अंदौरा से हिमाचल एक्सप्रेस वापिस दिल्ली बरेली के लिए निकलती है। आने वाले समय में अंब अंदौरा से आगे दौलतपुर चौक सेक्शन तक रेलगाड़ियां चलने लगेंगी। यह सेक्शन भी रेलवे सेफ्टी विंग ने यातायात के लिए ओके कर दिया है। ऊना से चलने वाली जनशताब्दी और नांदेड वीकली एक्सप्रेस को लोग अंब अंदौरा तक बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। नंगल डैम तक आने वाली रेलगाड़ियों को भी अंब अंदौरा तक एक्सटेंड करने की मांग उठ रही है। जिससे कोटलाकलां व मलाहत की रेलवे क्रॉसिंग पर रेलगाड़ियों की संख्या में और बढ़ोतरी हो जाएगी।

ऊना: फाटक बंद होने से क्रासिंग पर लगा जाम।

ओवरब्रिज का निर्माण समय की मांग

दोनों क्रॉसिंग पर रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण समय की मांग है। सांसद के माध्यम से रेलवे मंत्रालय से मामला उठाया जाएगा। जहां को शेयरिंग की बात होगी तो राज्य सरकार के समक्ष मामला रखा जाएगा। जिससे जनता को सुविधा आने जाने में दिक्कत न आए। सुमित शर्मा, सदस्य उत्तरी रेलवे उपभोक्ता सलाहकार समिति

10 से 15 मिनट तक बंद होता है फाटक

दोनों क्रॉसिंग पर 10 से 15 मिनट तक फाटक बंद रहते हैं। जब रेलगाड़ी चुरूडू टकारला स्टेशन से ऊना के लिए रवाना होती है तभी कोटलाकलां और मलाहत क्रॉसिंग के फाटक लगा दिए जाते हैं। जिन्हें रेलगाड़ी के क्रॉस होने पर ही खोला जाता है। इस अवधि में स्टेट हाईवे के दोनों तरफ वाहनों की लाइनें लग जाती हैं। ऊना रेलवे स्टेशन के सुपरीटेंडेंट बीएस चौहान ने माना कि इस कोटलाकलां क्रॉसिंग पर ट्रैफिक अधिक है। लोगों को फाटक बंद होने की सूरत में 10 मिनट तक रूकना पड़ता है। उन्होंने कहा कि भविष्य में ट्रेनों की संख्या और बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि यह स्टेट हाईवे में आते हैं, जिस पर को शेयरिंग से ही ओवरब्रिज निर्माण हो सकता है। लेकिन अभी कोई योजना नहीं है।

दोनों क्रॉसिंग पर रेलवे ओवरब्रिज बनाने की कोई योजना नहीं है। क्योंकि यह रेलवे विभाग रेलवे के अधिकार क्षेत्र में आता है। इसलिए रेलवे ही इन क्रॉसिंग पर ओवरब्रिज बनाएगा। आरएस चंदेल, एक्सईएन पीडब्ल्यूडी डिवीजन ऊना

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×