Home | Himachal | Shimla | पांवटा साहिब के सिविल अस्पताल में एक साथ चार डाॅक्टरों के नदारद रहने से मरीज हुए परेशान

पांवटा साहिब के सिविल अस्पताल में एक साथ चार डाॅक्टरों के नदारद रहने से मरीज हुए परेशान

सिटी रिपोर्टर | पांवटा साहिब पांवटा साहिब के सिविल अस्पताल में चार डाॅक्टर एक साथ नदारद थे। मंगलवार को दो...

Bhaskar News Network| Last Modified - May 09, 2018, 02:00 AM IST

पांवटा साहिब के सिविल अस्पताल में एक साथ चार डाॅक्टरों के नदारद रहने से मरीज हुए परेशान
पांवटा साहिब के सिविल अस्पताल में एक साथ चार डाॅक्टरों के नदारद रहने से मरीज हुए परेशान
सिटी रिपोर्टर | पांवटा साहिब

पांवटा साहिब के सिविल अस्पताल में चार डाॅक्टर एक साथ नदारद थे। मंगलवार को दो डाॅक्टरों के छुट्‌टी पर होने व दो डाॅक्टरों के बैठक में चले जाने के कारण यह स्थिति पैदा हुई है। इससे अस्पताल प्रबंधन पर कई सवाल खड़े हो गए हंै कि आखिर एक साथ डाॅक्टर क्यों भेजे गए। पांवटा में मंगलवार को डाॅक्टरों के नहीं होने से मरीजों को परेशानी हुई।

यहां पर कुल स्वीकर्त पद 16 हैं, जिसमें 4 पद खाली है। मौजूदा समय में 12 डॉक्टर हैं, जिनमें से चार एक साथ छुट्‌टी पर चले गए हैं। इसके अलावा मंगलवार को दो डाॅक्टर अमिताभ जैन व राघव छुट्‌टी पर थे, जबकि संजीव सहगल व एक अन्य डाॅक्टर बैठक में थे, जिस कारण मरीज परेशान रहे। यह चारों डाॅक्टर जनरल ओपीडी में हैं। ओपीडी में सभी मरीजों का उपचार करते हैं। दूसरी ओर पांवटा साहिब सिविल अस्पताल में मंगलवार को उपचार के लिए सैकड़ों मरीज पहुंचे, लेकिन डाॅक्टर नहीं मिलने के कारण कई मरीजों ने तो निजी अस्पताल की तरफ रुख किया, जबकि कई डाॅक्टर के आने के इंतजार में बैठे रहे है। दूरदराज क्षेत्र से आए मरीजों सीमा, किरण, सूरत सिंह, कल्याण सिंह व पूनम आदि मरीजों ने बताया कि पांवटा साहिब सिविल अस्पताल में इलाज के लिए आए थे, मगर डाॅक्टर नहीं मिलने के कारण उनको भारी परेशानी झेलनी पड़ी।

यह चारों डॉक्टर जनरल बीमारियों के इलाज करने वाले थे

डाॅक्टरों का इंतजारा करती महिलाएं

हर रोज 600 तक ओपीडी

पांवटा साहिब का सिविल अस्पताल 9 करोड़ की लागत से बना है, मगर यहां पर सुविधाओं की कमी है। जब हर रोज करीब 600 से अधिक ओपीडी है। यह अस्पताल चार विधानसभा क्षेत्रों शिलाई, रेणुका, नाहन व पांवटा साहिब का केंद्र है। इसके अलावा पांवटा शहर सीमा पर स्थित होने के कारण उत्तराखंड व हरियाणा के नजदीक गांव से लोग इलाज के लिए पांवटा आते हैं। इस बारे एसएमओ पांवटा साहिब डाॅ. संजीव सहगल ने बताया कि पांवटा साहिब में हर रोज ओपीडी की संख्या बढ़ रही है। यहां पर मरीजों को और सुविधाओं की जरूरत है। यहां पर बड़ा ऑक्सीजन प्लांट, लिफ्ट लगाने के लिए विभाग को अवगत करवाया है। दूसरी ओर रेडियोलोजिस्ट के रिक्त पड़े पद के बारे में स्वास्थ्य विभाग को अवगत करा दिया गया है।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now