Hindi News »Himachal »Shimla» गिरपार क्षेत्र में आखिर कौन पड़ा है तेंदुओं की जान के पीछे, अब तक दो को बनाया शिकार

गिरपार क्षेत्र में आखिर कौन पड़ा है तेंदुओं की जान के पीछे, अब तक दो को बनाया शिकार

श्यामलाल पुंडीर | पांवटा साहिब गिरिपार क्षेत्र में पिछले दो महीने के भीतर दो तेंदुए अज्ञात शिकारियों की गोली का...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 06, 2018, 02:05 AM IST

श्यामलाल पुंडीर | पांवटा साहिब

गिरिपार क्षेत्र में पिछले दो महीने के भीतर दो तेंदुए अज्ञात शिकारियों की गोली का शिकार हो गए हैं। पुलिस व वन विभाग इस रहस्य से पर्दा उठाने में नाकाम है। जिस कारण एक के बाद एक अब तक दो तेंदुओं को मारा जा चुका है। हालांकि तेंदुओं ने इस इलाके की कई बकरियों को अपना शिकार बनाया था। इसके बाद से इनके पीछे कोई हाथ धोकर पड़ा है। इलाके में तेंदुओंं की दशहत भी थी। जिस कारण चुपचाप कोई शिकार इनको ठिकाने लगा रहा है। इनको मारने की परमिशन नहीं थी। फिर भी इनको मार दिया गया। गौरतलब है कि पिछले कई महीने से दो नर व मादा तेंदुओं ने दशहत मचाई थी। यह गिरिपार क्षेत्र की पांच व आंज-भौज क्षेत्र की 8 पंचायतों में घूमते थे। इस दौरान इन्होंने दिघाली व आंज-भौज क्षेत्र के कई गांव में भेड़ व बकरी पालकों को भारी नुकसान पहुंचाया था। इसके बाद से ये शिकारियों के निशाने पर थे। दोनों नर व मादा तेंदुओं को गोली से मारा गया। इसकी पुष्टि भी विभाग कर चुका है। दो महीने पहले भरली के पास नर तेंदुआ गोली का शिकार हुआ। जांच में पाया गया कि इसको भी गोली मारी है। इसके बाद गिरिपार क्षेत्र की डोबरी सालवाला पंचायत में शुक्रवार शाम को मिली मादा तेंदुए की मौत शिकारी की गोली लगने से हुई है। यह जानकारी डीएफ ओ पांवटा एसएस राणा ने दी। उन्होंने कहा कि तेंदुए के सिर पर गोली लगी है। पशुु चिकित्सालय में पोस्टमार्टम के बाद भी यह संभावना पुख्ता हो गई है कि तेंदुए को किसी शिकारी ने गोली मारी है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी नहीं आई है। जिससे मौत का कारण पुख्ता हो जाएगा।

तेंदुए कर रहे थे क्षेत्र में बकरियों का शिकार, शक की सुई शिकारियों पर

तेंदुए का शव मिला |शुक्रवार को पुलिस ने वन विभाग के साथ मिलकर एक मादा तेंदुए का शव बरामद किया। मादा तेंदुए की उम्र करीब 2 साल है। वन विभाग को ग्रामीणों ने सूचना दी। सूचना मिलने के बाद वन व पुलिस विभाग की टीम मौके पर पहुंचे तो वहां पर मादा तेंदुआ मृत अवस्था थी। ज्यादातर शिकार कीमती खाल और अन्य अंगों के लिए होते हैं। डीएफओ राणा ने बताया कि शव की प्रारंभिक जांच में पाया गया किमादा तेंदुए के सिर से खून निकला था। संभवत किसी शिकारी ने इसको गोली मारी हो। उन्होंने कहा कि इस बारे पुलिस मे एफआईआर करवा दी गई है। डीएसपी प्रमोद ने वन विभाग द्वारा एफआईआर करवाये जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस मामले मे जांच कर रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×