• Hindi News
  • Himachal Pradesh News
  • Shimla News
  • जिस कीमती जमीन पर बन सकती थी खुद के लिए आलीशान कोठी, वहां पर बना दिया धर्मार्थ भवन
--Advertisement--

जिस कीमती जमीन पर बन सकती थी खुद के लिए आलीशान कोठी, वहां पर बना दिया धर्मार्थ भवन

श्यामलाल पुंडीर | पांवटा साहिब आज इंसान अपने लिए पैसा व जमीन हासिल करने के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगा देते हंै।...

Dainik Bhaskar

May 07, 2018, 02:05 AM IST
श्यामलाल पुंडीर | पांवटा साहिब

आज इंसान अपने लिए पैसा व जमीन हासिल करने के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगा देते हंै। वहीं, पांवटा साहिब के एक ऐसे उद्योगपति भी हैं, जिन्होंने अपने मेहनत के पैसों से तारूवाला में जमीन लेकर गरीबों के लिए धमार्थ भवन बना दिया। वह चाहते तो वहां पर अपने लिए आलीशान कोठी भी खड़ी कर सकते थे, मगर उन्होंने इस जमीन पर गरीबों के लिए धर्मार्थ भवन बना दिया। अब इस धर्मार्थ भवन में हर तरह के कार्यक्रम होते हैं। 66 वर्षीय उद्योगपति ज्ञान चंद गोयल सबके के लिए मिसाल बन गए हैं। यह उद्योगपति गरीबों की सेवा में पिछले कई सालों से लगे हैं। पांवटा-शिलाई मार्ग पर तारूवाला के पास उद्योगपति ने अपने नाम पर ज्ञानचंद गोयल धर्मार्थ भवन बना दिया। इस भवन में 15 कमरे हंै। इन कमरों को गरीब लोगों के लिए नि:शुल्क रात को ठहरने के लिए दिया जाता है। इस भवन के भीतर बड़ा हाल है, जहां पर सुबह नि:शुल्क योग करवाया जाता है। इसके अलावा नि:शुल्क स्वास्थ्य केंद्र भी है। यहां पर गरीबों के लिए नि:शुल्क दवाइयां दी जाती हैं। इस भवन को गरीब युवक-युवतियों की शादी के लिए नि:शुल्क दिया जाता है। इस कारण शहर के ज्यादातर लोग यहां पर शादी के लिए बुक कराते हंै। यहीं नहीं इस भवन में सुबह से दोपहर तक नि:शुल्क भंडारा दिया जाता है। यहां पर गरीब व बेसहारा लंगर छकते हंै।

एक साल पहले जमीन लेकर भवन बनाया

इस बारे में उद्योगपति ज्ञान चंद गोयल ने बताया कि उनके मन में गरीबों की सेवा करने की बात बहुत पहले से थी। इसलिए एक साल पहले तारूवाला में जमीन लेकर धर्मार्थ भवन का निर्माण किया। यहां पर गरीबों के अलावा मध्यम वर्ग के परिवारों के लिए भी सुविधा है। हाल को किसी समारोह व अन्य कार्यक्रम के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता हैै।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..