• Hindi News
  • Himachal Pradesh News
  • Shimla News
  • सिरमौर में 337 ब्लैक स्पाट ; 251 जगहों की सुधारी जा रही हैं सड़कें, राजगढ़ और संगड़ाह की सड़कों की दशा बेहद खराब
--Advertisement--

सिरमौर में 337 ब्लैक स्पाट ; 251 जगहों की सुधारी जा रही हैं सड़कें, राजगढ़ और संगड़ाह की सड़कों की दशा बेहद खराब

जिला सिरमौर की तंग व खस्ताहाल सड़कें हादसों को न्योता दे रही हैं। सबसे अधिक राजगढ़ व संगड़ाह क्षेत्र में सड़कों की...

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 02:05 AM IST
जिला सिरमौर की तंग व खस्ताहाल सड़कें हादसों को न्योता दे रही हैं। सबसे अधिक राजगढ़ व संगड़ाह क्षेत्र में सड़कों की दशा सबसे खराब हैं। सिरमौर में 337 ऐसी जगहें ब्लैक स्पाट चिह्नित की गई हैं। इन जगहेां में कुछ सड़कें ऐसी हैं, जहां तीखे मोड़, गहरी खाइयां हैं और कई जगह सड़कों पर क्रेष बैरियर नहीं लगे हैं। जिले में लोक निर्माण विभाग, पुलिस व निजी एजेंसी की ओर से ब्लैक स्पाट को चिह्नित करने का काम किया जा रहा है। हालांकि, जिले के कई क्षेत्रों में दुर्घटना संभावित क्षेत्रों को दुरुस्त करने क्रैश बैरियर लगाने का कार्य किया जा रहा है, मगर इसके बाद भी मुख्य सड़कों के अलावा संपर्क मार्गों की हालत बहुत खस्ता है। जिले में दुर्घटनाओं का अन्य कार्य परिवहन सेवाओं की भारी कमी है। परिवहन सेवाओं की कमी के कारण अकसर संपर्क मार्गों पर ओवरलोडिंग हो रही है। दूर-दराज ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस व परिवहन विभाग भी ओवरलोडिंग को रोकने में नाकाम रहा है। हाल ही में राजगढ़ क्षेत्र के नेई नेटी में निजी बस दुर्घटना में 8 लोगों की मौत हुई थी। रेणुकाजी के दनोई में कई हादसे हो चुके हैं। इसके अलावा बिरला बायला में श्रद्धालुओं से भरी बस गहरी खाई में गिरी थी। इस दुर्घटना में दर्जनों लोगों की मौत हुई थी। राजगढ़-मिनस मार्ग पर भी निजी बस दुर्घटनाग्रस्त हुई थी। इस हादसे में अधिकतर यात्रियों की मौत हुई थी।

पुलिस सहित, लोक निर्माण विभाग व निजी एजेंसी ने चिह्नित किए ब्लैक स्पाट, 251 ब्लैक स्पाट पर शुरू हुआ काम

लोक निर्माण विभाग ने 300, पुलिस ने 37 ब्लैक स्पाट चिह्नित किए| सिरमौर में विभिन्न एजेंसियों की ओर से दुर्घटनाओं को रोकने के लिए 337 ब्लैक स्पाट चिह्नित किए हैं। वर्ष 2017 में लोक निर्माण विभाग ने 300 व पुलिस ने 37 ब्लैक स्पाट चिह्नित किए ं। लोक निर्माण विभाग ने नाहन में 22, पांवटा साहिब में 36, राजगढ़ में 50, संगड़ाह में 125 व शिलाई में 67 ब्लैक स्पाट चिह्नित किए । वहीं पुलिस द्वारा नाहन में 3, पांवटा साहिब में 3, राजगढ़ में 24, संगड़ाह में 5 व शिलाई में 2 ब्लैक स्पाट चिह्नित किए हैं। लोग निर्माण विभाग की ओर से वर्ष 2017 में 135 व वर्ष 2018 में 116 ब्लैक स्पाट कुल 251 पर कार्य शुरू किया गया। ब्लैक स्पाट को दुरुस्त करने व क्रैश बैरियर लगाने के लिए 887 लाख के टेंडर किए हैं।

हर वर्ष किए जा रहे ब्लैक स्पाट चिह्नित | सिरमौर में दुर्घटनाओं के आंकड़ों के अनुसार जांच कर हर वर्ष नए ब्लैक स्पाट चिह्नित किए जा रहे हैं, मगर सड़कों की दशा को देखते हुए यह नाकाफी साबित हो रहे हैं। फिलहाल मुख्य सड़कों पर अधिक ध्यान दिया जा रहा है, जबकि लिंक सड़कों की दशा भी दयनिय है। दुर्घटना संभावित क्षेत्रों को लोग निर्माण विभाग की ओर से चौड़ा किया जा रहा है। कर्व को चौड़ा करने के अलावा खाई वाले क्षेत्रों में पैरापीट व क्रैश बैरियर लगाए जा रहे हैं।

दुर्घटना वाले

क्षेत्रों को इंप्रूव

किया जा रहा

एक्सइन डिजाइन र| शर्मा ने बताया कि दुर्घटना वाले क्षेत्रों को इंप्रूव किया जा रहा है। सड़कों की चौड़ाई कम करने के अलावा मोड़ दुरुस्त किए जा रहे हैं। इस वर्ष भी नए ब्लैक स्पाट चिह्नित कर सरकार को अतिरिक्त बजट के लिए प्रपोजल भेजी गई है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..