शिमला

--Advertisement--

रेता,बजरी न मिलने से भवन निर्माण व अन्य कार्य प्रभावित

रिकांगपिओ। जिला में रेता,बजरी नहीं मिलने से जिला में सरकारी व निजी क्षेत्र में बन रहे भवन निर्माण व अन्य कार्य...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 02:05 AM IST
रिकांगपिओ। जिला में रेता,बजरी नहीं मिलने से जिला में सरकारी व निजी क्षेत्र में बन रहे भवन निर्माण व अन्य कार्य पूरी तरह से प्रभावित हो रहा है।जिला कांग्रेस प्रवक्ता सूर्या बोरस ने कहा कि पूर्व सरकार के समय पूर्व विस उपाध्यक्ष एवम विधायक जगत सिंह नेगी ने स्थानीय ग्रामीणों को अपने हक हकूक के तहत पंचायत के माध्यम से जरूरत के मुताबिक अपने क्षेत्र के खड़ से रेता, बजरी देने का प्रावधान किया था।मगर आज भाजपा सरकार ने इसे पूरी तरह बंद कर दिया गया। जिस से खास कर गरीब लोग जो अपना मकान बनाना चाहते है रेता,बजरी नहीं मिलने से परेशान है। रेता,बजरी निकालने के लिए पूरा प्रतिबंध करने से उलटा रेता,बजरी का काला बाजारी बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि छोटे वाहन वाले भी चालान या अन्य खोप का हवाला दे कर अधिक रुपये वसूल रहे है।बोरस ने कहा कि जिला में कार्य कर बड़े कंपनियां,पैसे वाले व ठेकेदार तो जैसे तैसे रेता,बजरी ला कर अपना काम चला रहे है। मगर आम आदमी का रिकांगपिओ व आसपास मकान बनाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। उन्होंने प्रशासन व प्रदेश सरकार से मांग किया है कि पूर्व कांग्रेस सरकार की तरह जिला के लोगों को अपने पंचायत क्षेत्र के अधीन ही अपना हक हकूक के तहत अपने जरूरत के मुताबिक खड़ से रेता ,बजरी निकालने की परमिशन दी जाए ताकि आम आदमी अपना आशियाना बना सके।

X
Click to listen..