• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • परीक्षाएं समाप्त होेने को, कहां होंगे पेपर चेक अभी तय ही नहीं
--Advertisement--

परीक्षाएं समाप्त होेने को, कहां होंगे पेपर चेक अभी तय ही नहीं

अंडर ग्रैजुएट के छठे सेमेस्टर की परीक्षाएं अब समाप्त होने वाली है। जबकि अभी तक यह तय नहीं है कि पेपर कैसे चेक...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:05 AM IST
परीक्षाएं समाप्त होेने को, कहां होंगे पेपर चेक अभी तय ही नहीं
अंडर ग्रैजुएट के छठे सेमेस्टर की परीक्षाएं अब समाप्त होने वाली है। जबकि अभी तक यह तय नहीं है कि पेपर कैसे चेक होंगे। विवि प्रशासन के उस नियम को कॉलेज शिक्षक नहीं मान रहे हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि जिस कॉलेज में छात्रों ने परीक्षाएं दी है, वहीं के शिक्षक अपने छात्रों के पेपरों का मूल्यांकन करेंगे। ऐसे में अभी तक यह तय नहीं हो पा रहा है कि पेपर कैसे चेक होंगे। जबकि आगामी 23 अप्रैल से पेपर चेक होने है। इस कारण 135 कॉलेजो में इस बार अंडर ग्रेजुएट कोर्सेस के करीब 30 हजार छात्रों के रिजल्ट देरी से अाने का संकट खड़ा हो गया है। कॉलेज टीचरों ने छठे सेमेस्टर के अपने कॉलेजों के पेपर चेक करने से साफ इनकार कर दिया है। यानि अब टीचर अपने ही कॉलेज के स्टूडेंट के पेपर खुद चेक नहीं करेंगे। कॉलेज प्राध्यापक संघ ने विवि प्रशासन को लिखित में दे दिया है, कि वे इस सत्र में किसी भी सूरत में पेपर चेक नहीं करेंगे।

कॉलेज शिक्षकों को इसलिए है आपत्ति कॉलेज शिक्षकों को अपने ही कॉलेज में पेपर का मूल्यांकन करने में आपत्ति हैं। उनका कहना है कि वह खुद उन छात्रों के पेपर चेक नहीं कर सकते हैं, क्योंकि इससे सीक्रेसी लीक होती हैं। जिन छात्रों को हमने पढ़ाया है, उनके पेपर खुद ही चेक करना सही नहीं हैं। ऐसा करने पर उनके ऊपर पक्षपात करने के आरोप लगते हैं। ऐसे में वह इस बार मूल्यांकन नहीं करेंगे। विवि प्रशासन को पुराने नियम ही लागू करने चाहिए।

एडमिशन प्रक्रिया में भी आएगी दिक्कत पीजी कोर्स के साक्षात्कार में यूजी डिग्री का रिजल्ट जरूरी होता है। यदि 30 जून तक परिणाम न निकला तो इससे एचपीयू का अपना पीजी डिग्री कोर्स साक्षात्कार का शेड्यूल गड़बड़ा सकता है, और छात्रों को प्रदेश के बाहर भी पीजी कोर्स में प्रवेश लेन में मुश्किलें पेश आ सकती है। रूसा सीबीसीएस बैच के हजारों छात्रों को छठे सेमेस्टर के परिणाम के घोषित होने का बेसब्री से इंतजार रहता है। ऐसे में अब इस तरह से कॉलेज शिक्षकों के मूल्यांकन बंद करने के ऐलान से परेशानी बढ़ सकती हैं।

विवि प्रशासन जल्द करेगा संघ के साथ बैठक एचपीयू प्रशासन जल्द ही अब कॉलेज प्राध्यापक संघ के साथ बैठक करेंगे। परीक्षा नियंत्रक प्रो. जेएस नेगी का कहना है कि जल्द ही मूल्यांकन शुरू होगा। कैसे इस बार पेपर चेक किए जाएंगे, यह भी तय किया जा रहा है। छात्रों का रिजल्ट समय पर निकाला जाएगा। उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। वहीं, कॉलेज प्राध्यापक संघ के अध्यक्ष प्रो. रामलाल का कहना है कि हम अपना निर्णय नहीं बदलेंगे। विवि प्रशासन ही इस पर कोई ठोस निर्णय लें।

रिजल्ट जल्द निकालने के लिए ऐसे नियम बनाए थे एचपीयू प्रशासन ने पिछले वर्ष 2017 में रिजल्ट को समय पर निकालने के लिए नियम बनाए थे कि छठे सेमेस्टर के पेपर वहीं, चेक होंगे जहां पर छात्रों ने दिए हैं। किसी छात्र ने संजौली में पेपर दिए हैं तो उसके पेपर वहीं के शिक्षक चेक करेंगे। पेपर का मूल्यांकन करने के बाद वे इसकी पूरी डिटेल विवि को देंगे। इससे समय पर रिजल्ट निकलेगा। जबकि जो पेपर विवि प्रशासन की ओर से अन्य सेमेस्टरों के चेक किए जाते हैं, उन्हें प्रदेश में बनाए गए अलग अलग केंद्रों में भेजा जाता है। जिस कारण ये समय पर चेक नहीं होते हैं और रिजल्ट निकालने में समय लग जाता है।

X
परीक्षाएं समाप्त होेने को, कहां होंगे पेपर चेक अभी तय ही नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..