Home | Himachal | Shimla | 5 साल का सेवाकाल पूरा करने के बाद लाइनमैन बनेंगे फोरमैन

5 साल का सेवाकाल पूरा करने के बाद लाइनमैन बनेंगे फोरमैन

राज्य बिजली बोर्ड में तैनात तकनीकी कर्मचारियों को राज्य सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। बिजली बोर्ड में लाइनमैन अब 5...

Bhaskar News Network| Last Modified - May 09, 2018, 02:05 AM IST

5 साल का सेवाकाल पूरा करने के बाद लाइनमैन बनेंगे फोरमैन
5 साल का सेवाकाल पूरा करने के बाद लाइनमैन बनेंगे फोरमैन
राज्य बिजली बोर्ड में तैनात तकनीकी कर्मचारियों को राज्य सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। बिजली बोर्ड में लाइनमैन अब 5 साल के सेवाकाल के बाद प्रमोट होकर फोरमैन बनाया जाएगा। बिजली बोर्ड के फील्ड में तैनात कर्मचारियों को राज्य सरकार मोबाइल भत्ता देगी। बोर्ड में खाली पड़े तकनीकी कर्मचारियों के 600 पदों को भरने की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को शिमला में राज्य विद्युत बोर्ड तकनीकी कर्मचारियों के 20वें स्थापना दिवस के मौके पर इसकी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के हर गांव तक बिजली पहुंचाने में तकनीकी कर्मचारियों की अहम भूमिका है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऊर्जा क्षेत्र में अपार संभावनाएं विद्यमान हैं। निजी क्षेत्र भी ऊर्जा क्षेत्र में निवेश करने में रुचि दिखा रहा है, लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ निहित स्वार्थी तत्त्व राजनैतिक उद्देश्यों के लिए इसमें बाधा उत्पन्न कर रहे हैं, जहां भी नई परियोजना आरंभ होती है, ये तत्त्व वहां निर्माण कार्यों को बाधित करने की कोशिश करते हैं। उन्होंने कहा कि अभी तक प्रदेश में 10 हजार मेगावाट ऊर्जा का दोहन किया गया है। निजी, सार्वजनिक एवं सरकारी सहभागिता के माध्यम से शेष क्षमता का शीघ्र दोहन करने के प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य सरकार शीघ्र इस उद्देश्य के लिए नई ऊर्जा नीति तैयार करेगी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचारक संजीवन कुमार ने कहा कि तकनीकी कर्मचारी प्रदेश में ऊर्जा परियोजनाओं की सफलता को सुनिश्चित बनाने के लिए समर्पित भावना से कार्य कर रहे हैं। कर्मचारी नेता सुरेंद्र ठाकुर ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए। ऊर्जा अभियंता संघ के अध्यक्ष सुनील ग्रोवर ने कहा कि प्रदेश के तकनीकी कर्मचारी हिमाचल प्रदेश को देश का ऊर्जा राज्य बनाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। अभियंता संघ के राज्य अध्यक्ष मोहन लाल ठाकुर ने आश्वासन दिलाया कि तकनीकी कर्मचारी राज्य सरकार की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए प्रतिबद्धता एवं उत्साह के साथ कार्य करेंगे। अभियंता संघ के जिला शिमला अध्यक्ष खूब चंद शर्मा ने संघ की विभिन्न मांगों के बारे विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बोर्ड में फोरमैन के 240 से अधिक पद रिक्त पड़े हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से लाइनमैनों को इन पदों पर पदोन्नत करने का आग्रह किया।

मुख्यमंत्री का स्वागत करते बिजली बोर्ड के कर्मचारी व अधिकारी।

हर गांव तक बिजली पहुंचाने में तकनीकी कर्मचारियों की भूमिका अहम | बहुउद्देशीय परियोजना व ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा ने कहा कि बोर्ड के तकनीकी कर्मचारी प्रदेश के दूरगामी गांवों तक बिजली प्रदान करने में अहम भूमिका निभाते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कर्मचारियों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य के लिए तकनीकी कर्मचारियों के सक्रिय सहयोग की आवश्यकता है। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व में प्रदेश देश का ऊर्जा राज्य बनने को तैयार है।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now